चौखुटिया, जेएनएन: चंद्रनगर गैरसैंण को स्थायी राजधानी बनाने, जिला विकास प्राधिकरण को वापस लेने, रसोई गैस सिलेंडरों के दाम कम करने व जंगली जानवरों से खेती को बचाने समेत अन्य मांगों को लेकर उक्रांद कार्यकर्ता लामबंद होने लगे हैं। इस क्रम में उन्होंने मंगलवार को बाजार में तहसील कूच जुलूस निकाला तथा नारेबाजी कर अपनी आवाज बुलंद की। क्रांतिबीर चौराहे पर आम सभा में वक्ताओं ने भाजपा व कांग्रेस पर तीखे प्रहार किए।

पूर्व विधायक पुष्पेश त्रिपाठी के नेतृत्व में बाजार के क्रांतिबीर चौराहे से शुरू होकर नारेबाजी के साथ जुलूस तहसील कार्यालय पहुंचा। जहां कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी कर सरकार को चेताया। विकास प्राधिकरण व जंगली जानवरों के नुकसान को लेकर महिलाएं काफी गुस्से में दिखीं। बाद में रजिस्ट्रार कानून गो सुरेंद्र सिंह नेगी को पांच सूत्रीय मांगों पर आधारित ज्ञापन सौंपा। इससे पूर्व बाजार के क्रांतिबीर चौराहे पर सभा में वक्ताओं ने तमाम बुनियादी सवालों पर कांग्रेस व भाजपा को घेरा। पूर्व विधायक पुष्पेश त्रिपाठी ने सियासी दलों को राज्य विरोधी बताया। कहा कि राज्य बने 19 वर्ष हो गए हैं, लेकिन उत्तराखंड की दशा व दिशा आज भी नहीं बदली है। बेरोजगारी बढ़ने से गांव के गांव खाली होते जा रहे हैं। ऐसे में जनता को राष्ट्रीय दलों के खिलाफ लामबंद होना होगा। अध्यक्षता ब्लॉक अध्यक्ष आनंद नाथ व संचालन नरेंद्र मेहरा ने किया। इस मौके पर गजेंद्र नेगी, बलवंत सिंह नेगी, राम बहादुर, धीरेंद्र तिवारी, सूबेदार खीम सिंह, गुड्डी देवी, भूपाल बिष्ट, प्रेम सिंह अटवाल, कुंदन राम, बचे सिंह, विपिन चंद्र, मान सिंह, मदन सिंह बिष्ट, पदमा दत्त, मनोहर संगेला, संतोष नेगी, नारायण सिंह, खष्टी, भावना, चंपा, दान सिंह मनराल, जगत सिंह नेगी, आनंद सिंह, बिशन सिंह आदि थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस