जागरण संवाददाता, बागेश्वर : पेयजल योजनाओं के क्षतिग्रस्त होने से जिले की आठ हजार की आबादी प्यासी है। क्षेत्रवासियों का कहना है कि पेयजल की उपलब्धता नहीं होने से परेशानी बढ़ गई है। डीएम से शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं की जा रही है।

जखेड़ा पेयजल योजना क्षतिग्रस्त होने से कठायतबाड़ा, नदी गांव, द्यांगण, मजियाखेत आदि क्षेत्रों में पानी की समस्या विकराल हो गई है। इस संबंध में कठायतबाड़ा के निवासियों ने डीएम की जनसुनवाई में भी शिकायत की। लेकिन उसके बाद भी समस्या का समाधान नहीं हुआ। क्षेत्रवासियों का कहना है कि जलसंस्थान की लापरवाही के कारण यह समस्या पैदा हुई है। जिस पर गंभीरता से काम नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि टैंकर से भी मात्र 500 लीटर पानी वितरित किया जा रहा है। जबकि रोज दो टैंकर पानी वितरण किए जाने की जरूरत है। मांग करने वालों में हीरा बल्लभ भट्ट, प्रेम ¨सह हरड़यिा, सुरेश चंद्र ओली, भरत भट्ट, सुरेश ¨सह खेतवाल, नंदा बल्लभ भट्ट, खीमा ¨सह खेतवाल आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran