वाराणसी, जागरण संवाददाता। सथवा गांव निवासी 24 वर्षीय किशन के बुधवार की रात घर से निकलने फिर पुलिस द्वारा स्कूटी व मोबाइल लावारिस हाल में मिलने की सूचना देने पर अपरहण की आशंका में स्वजन व ग्रामीण गुरुवार सुबह हृदयपुर रिंगरोड पर पहुंचकर चक्का जाम कर दिए। सूचना पर पहुंचे सहायक पुलिस आयुक्त संतोष कुमार मीणा द्वारा पांच घंटे में युवक की तलाश करने के आश्वासन पर स्वजन शांत हुए।

दरअसल, प्रेम-प्रसंग व परिवार के दबाव के चलते किशन अवसाद ग्रस्त था। इसी को लेकर बुधवार की रात में स्कूटी व मोबाइल छोड़कर घर से भाग गया। युवक की नई बाजार में फास्ट फूड की दुकान है। वह रोज रात में दुकान बंद कर समान लेने के लिए चंदुआ चट्टी जाता था। इसी दौरान किशन का एक युवती से प्रेम हो गया। उधर, घर वाले युवक की शादी तय कर दिए। ऐसे हालात से परेशान युवक योजनाबद्ध तरीके से हृदयपुर पुलिया के समीप स्कूटी, मोबाइल व चप्पल छोड़कर गायब हो गया। रात में गश्त के दौरान पुलिसकर्मियों को लावारिस हालत में सामन मिले। पुलिस ने मोबाइल नंबर के आधार पर किशन के घर पर रात 2.30 बजे सूचना दी।

कार्यवाहक थाना प्रभारी कुलदीप दुबे ने बताया कि किशन यहां से कैंट से पीडीडीयूनगर गया। वहां एक दुकान पर रात बिताने के बाद दोपहर 12 बजे लगभग सिगरा अपने दोस्त दीपक के घर पहुंचा। दीपक की ही सूचना पर उपनिरीक्षक सुधाकर राय व मिथलेश कुमार पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचकर किशन को पकड़ा। पूछताछ में उसने स्वयं को अवसाद ग्रस्त होना बताया।

प्रधान पति व पुत्रों पर धमकी : सेवापुरी के बेलवा गांव निवासी सोनी गौड़ पत्नी अवधेश गौड़ ने कपसेठी थाने में प्रार्थना पत्र देकर अपने ही गांव के महिला प्रधान पति एवं उनके पुत्रों पर जीना हराम करने का आरोप लगाया है। तथा पुराने मामले में दर्ज मुकदमा न उठाने पर फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी दे रहे हैं। स्कूल में रसोईया पद पर कार्यरत पीड़िता ने वर्षों पहले गांव के प्रधान के खिलाफ मारपीट का मुकदमा दर्ज कराया था। कपसेठी थाना अध्यक्ष अनिल मिश्रा का कहना है की महिला की तहरीर मिली है। एसआइ को जांच के लिए निर्देश दिया गया है। शीघ्र ही कार्रवाई की जाएगी। तहरीर पांच दिन पहले की है।

Edited By: Saurabh Chakravarty