Move to Jagran APP

Varanasi News: छात्रा से विवाद के बाद युवक ने लगाई गंगा में छलांग, थोड़ी देर तैरता रहा और फ‍िर...

उत्‍तर प्रदेश के वाराणसी जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक युवक ने गंगा में कूदकर जान दे दी। इसके बाद गोताखोरों ने उसका शव बाहर निकाला। मौत की खबर सुनकर परिजन हंगामा करने लगे। इस दौरान पता चला कि एक छात्रा से विवाद होने के बाद युवक ने कठोर कदम उठा लिया और जान दे दी।

By devendra nath singh Edited By: Vivek Shukla Thu, 11 Jul 2024 01:03 PM (IST)
युवक की मौत की खबर सुनकर हंगामा करते लोग। इनसेट में मृतक। जागरण

संवाद सहयोगी, जागरण वाराणसी। छात्रा से विवाद के बाद युवक ने गंगा में लगाई छलांग लगा दी। कुछ देर तैरते रहने के बाद डूबकर उसकी मौत हो गई। स्थानीय गोताखोरों की मदद से उसका शव बाहर निकाला गया। उसकी पहचान लंका थाना क्षेत्र के नगवां गंगोत्री विहार के पास रहने वाले फल विक्रेता विशाल सोनकर के रूप में हुई।

स्वजन का आरोप है कि घटना के दौरान मौके पर मौजूद लंका थाना प्रभारी ने विशाल की पिटाई की और छात्रा से भी पिटाई करवाया था क्षुब्ध होकर उसने जान दे दिया। पुलिस ने इससे इनकार किया है।

विशाल सोनकर रविदास पार्क के समीप ठेले पर फल की दुकान लगाता था। लंका थाना प्रभारी शिवकांत मिश्रा के अनुसार बुधवार की सुबह आठ बजे साइकिल से स्कूल जा रही छात्रा को देखकर विशाल ने आपत्तिजनक टिप्पणी की।

इसे भी पढ़ें-यूपी के इस शहर में बिजली बिल बढ़ा रहा लोगों की धड़कनें, कनेक्शन लेने में बैठ रहा दिल

इस पर छात्रा साइकिल से उतर गई और दोनों के बीच नोकझोंक होने लगी। यह देखकर लोगों की भीड़ जुट गई। लोगों को मामले की जानकारी हुई तो आक्रोशित होकर विशाल की पिटाई करने के लिए बढ़े।

छात्रा ने भी उसको पीटना चाहा तभी टहलने निकले लंका थाना प्रभारी वहां पहुंच गए। उन्होंने छात्रा और भीड़ से विशाल को बचाकर घर भेजा। 11 बजे वह अपने दोस्त राहुल के साथ रविदास घाट पहुंचा। गंगा में छलांग लगाकर तैरने लगा।

राहुल के अनुसार उसने उसे रोकने की कोशिश की लेकिन वह नहीं माना और तैरते हुए दूर निकल गया। थोड़ी देर बाद गहरे पानी में डूब गया। उसका शव निकलने के बाद स्वजन ने हंगामा किया लेकिन एसीपी भेलूपुर ने समझा-बुझाकर उन्हें शांत किया।

विशाल के पिता शारदा सोनकर पूर्व में लंका थाने पर होमगार्ड रहे। उन्होंने आरोप लगाया कि छात्रा संग विवाद के दौरान पहुंचे लंका थाना प्रभारी ने विशाल को थप्पड़ मारा और छात्रा से भी पिटवाया। इसके क्षुब्ध होकर उसने नदी में छलांग लगा दिया। लंका थाना प्रभारी ने इससे इनकार किया।

इसे भी पढ़ें-प्रदेश में वज्रपात से 52 की मौत, उमस ने ढाया कहर, आज से 40 जिलों में फ‍िर रफ्तार पकड़ेगा मानसून

उनका कहना है कि छात्रा से विवाद की घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद है और रविदास घाट पर क्रूज में लगे कैमरों में भी विशाल गंगा में दूर तक तैरता नजर आ रहा है। छात्रा ने बताया कि विशाल उसे कई दिनों से परेशान करता रहा।

विशाल के पिता शारदा प्रसाद मूल रूप से चंदौली जिले के परोरवा गांव के रहने वाले हैं । पिछले 30 सालों से नगवां नाले के समीप मकान बनवा कर रहते हैं। तीन महीने पहले पत्नी की बीमारी से मौत हो गई थी।

एसआइ व कांस्टेबल लाइन हाजिर, देर रात खत्म हुआ प्रदर्शन

छात्रा से विवाद के बाद गंगा में कूद कर जान देने वाले फल विक्रेता विशाल सोनकर के शव को घर के पास रखकर स्वजन देर रात तक प्रदर्शन करते रहे। उनकी मांग थी कि लंका थाना प्रभारी शिवकांत मिश्रा व दो सिपाहियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाए।

इस संबंध में एसीपी भेलूपुर धनंजय मिश्रा को तहरीर सौंपी जिसमें आरोप लगाया कि रविदास पार्क के पास छात्रा से विवाद के बाद सादे वेश में पहुंचे लंका थाना प्रभारी व सिपाहियों ने विशाल की पिटाई की और छात्रा से भी पिटाई करवाई। इससे क्षुब्ध होकर उसने गंगा में कूद कर जान दे दी। देर रात तक पुलिस समझाने का प्रयास करती रही, लेकिन बात नहीं बनी।

अंतत: रात लगभग 12 बजे डीसीपी सूर्यकांत त्रिपाठी मौके पर पहुंचे। उन्होंने एसआइ लक्ष्मीकांत मिश्रा व कांस्टेबल रंगपाल को लाइन हाजिर कर दिया। इसके बाद प्रदर्शन खत्म हुआ और पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।