आजमगढ़, जागरण संवाददाता। जिले में एक युवक दो बार थाईलैंड की यात्रा दो अलग अलग पासपोर्ट पर कर चुका है। इस मामले की जानकारी होने के बाद पुलिस के होश उड़ गए। पुलिस ने इस मामले में आरोपित पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया है। युवक ने दो पासपोर्ट बनवाने की वजह थाईलैंड में अधिक उम्र होने पर आसानी से नौकरी मिलने की बात कही। इसकी वजह से नाम बदलकर जीयनपुर थाने से आरोपित ने दोनों पासपोर्ट बनवा लिया।

जीयनपुर कोतवाली पुलिस ने नाम बदलकर दाे पासपोर्ट बनाकर विदेश जाने के आरोपित को अजमतगढ़ के शंकर तिराहे के पास से शुक्रवार को गिरफ्तार किया है। वह दोनों पासपोर्ट पर थाईलैंड की यात्रा कर चुका है। पुलिस ने धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज करते हुए चालान कर दिया।

जीयनपुर कोतवाली के कस्बा अजमतगढ़ के मछली शहर वार्ड के रहने वाले देवी प्रसाद ने पासपोर्ट कार्यालय लखनऊ से देवी प्रसाद के नाम से 20 जुलाई 2019 को पासपोर्ट बनवाया, जिसमें एक जुलाई 1987 जन्म तिथि दर्शाई गई थी। इसी बीच देवी प्रसाद ने तथ्यों को छिपाकर भुलई प्रसाद के नाम से दूसरा पासपोर्ट भी बनवा लिया, जिसमें उसने अपनी जन्मतिथि दो जनवरी 1970 दर्ज कराई। इन दोनों पासपोर्ट पर देवी प्रसाद थाईलैंड में काम की दृष्टि से यात्रा भी किया।

जन्मतिथि और नाम बदलने के बाबत देवी प्रसाद ने बताया कि थाईलैंड में ज्यादा उम्र होने पर भी काम आसानी से मिल जाता है। इस कारण मैंने दूसरा पासपोर्ट जन्मतिथि बढ़ाकर भुलई प्रसाद के नाम से बनवा लिया। प्रभारी निरीक्षक कोतवाली जीयनपुर यादवेंद्र पांडेय ने बताया कि जांच के दौरान देवी प्रसाद को अजमतगढ़ तिराहे से शंका के आधार पर पकड़ा गया, तो तलाशी में जेब से दो पासपोर्ट मिला है। तथ्यों को छिपाकर एक ही नाम पर दो पासपोर्ट बनवाना गैर कानूनी है। आरोपित के खिलाफ धोखाधड़ी सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

Edited By: Abhishek Sharma