वाराणसी, जेएनएन। हेरिटेज डाकघर नीचीबाग ने मंगलवार से वाराणसी परिमंडल के पहले संपूर्ण महिला डाकघर के रूप में  कार्य करना शुरू कर दिया। यहां पर एक महिला सब पोस्ट मास्टर और दो महिला डाक सहायकों को तैनात किया गया है। यहां पर नया आधार कार्ड बनवाने और उसके सुधारने की भी व्यवस्था की गयी है। कोरोना वायरस से बचाव के लिए अंगूठे की छाप देने से पहले सैनिटाइजर से हाथ साफ करना होगा। इसके लिए विभाग से सैनिटाइजर की व्यवस्था की है। अन्य डाकघरों में भी कर्मचारियों व ग्र्राहकों के लिए सैनिटाइजर की व्यवस्था की गई है।

अब मिनटों में पास पहुंचेगा आपका पार्सल

अब वह दिन खत्म हुए जब बाहर से आने वाले पार्सल के लिए लंबा इंतजार करना पड़ता था। अब आप का पार्सल बनारस आते ही मिनटों में आपको मिल जाएगा।

पोस्ट मास्टर जनरल वाराणसी परिक्षेत्र प्रणव कुमार ने मंगलवार को नीचीबाग डाकघर परिसर में पूर्वांचल के पहले नोडल डिलीवरी सेंटर का शुभारंभ करते हुए कहा कि नगर क्षेत्र को 10 भागों में बांटा गया है। पक्के महाल की गलियों के अलावा डाकिया दो पहिया वाहन से पार्सल को गंतव्य स्थान तक पहुंचाएंगे। इसके लिए उन्हें प्रति किलोमीटर तीन रुपये का भत्ता दिया जाएगा।

नोडल डिलीवरी सेंटर को ऐसी तकनीक से लैस किया गया है जो मिनटों में बाहर से आने वाले पार्सलों को छांटकर निर्धारित बाक्स तक भेज देंगे। आने वाले दिनों में स्पीड पोस्ट सहित अन्य सुविधाओं को भी इस केंद्र से जोड़ा जाएगा। डाकिया स्मार्ट फोन पर पोस्टमैन मोबाइल ऐप्लीकेशन (पीएमए) से लैस होगा। कोई भी इस ऐप्लीकेशन के माध्यम से जान सकेगा कि उसका पार्सल कहां है और कब तक उसके पास पहुंच जाएगा। वाराणसी में इसका फायदा देखकर अन्य जनपदों में भी नोडल डिलीवरी सेंटर बनाया जाएगा। नोडल डिलीवरी सेंटर के शुभारंभ के मौके पर प्रवर डाक अधीक्षक डीबी त्रिपाठी, सहायक निदेशक प्रसून दास, डाक अधीक्षक मुख्यालय अनूप परमार, डाक अधीक्षक नगर आरके चौहान, इम्तियाज अहमद व राजेंद्र कुमार सहित अनेक अधिकारी व कर्मचारी मौजूद थे।

 

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस