वाराणसी, जेएनएन। पुलिस ने मंगलवार को देव दीपावली पर आए लाखों पर्यटकों के साथ ही कार्तिक पूर्णिमा पर स्नान करने आए श्रद्धालुओं की सुरक्षा का जो वादा किया था, उसे पूरा भी किया। पुलिस ने दशाश्वमेध व आसपास के घाटों पर जांच-पड़ताल के दौरान चेन स्नेचिंग, उचक्कागिरी करने वाली कुल 23 महिला अपराधियों को पकड़ा। 

सीओ दशाश्वमेध प्रीती त्रिपाठी और थाना प्रमुख आशुतोष तिवारी के नेतृत्व में पुलिस ने गिरफ्तार महिलाओं के पास से चोरी करने में प्रयोग किए जाने वाले सामान ब्लेड, कटर व पेचकस समेत अन्य वस्तुएं बरामद की। सीओ ने बताया कि हाल के वर्षों इतनी बड़ी संख्या में आदि बरामद कर अग्रिम विधिक कार्यवाही की जा रही है। सीओ ने बताया कि अधिकतर चेन स्नेचर महिलाओं की तस्वीर भी गोदौलिया चौराहे से लेकर घाट के आसपास लगाई गई थी ताकि जनता भी इनसे सावधान रहे। कई महिला चेन स्नेचर पब्लिक की सूचना पर पकड़ी गईं।

गिरफ्तार महिलाएं भीड़ में चेन काटने, झांसा देकर ठगी करने में माहिर हैं। मंदिरों में ये आम श्रद्धालुओं की तरह लाइन में लगकर चेन उड़ा देती थीं।

गिरफ्तार महिला चेन स्नेचर 

देवरिया जिला के जिरासू थाना क्षेत्र के भटनी गांव की सीमा, भलमतिया, नेहा, विद्यावती, बिंदू, सीमा। गाजीपुर के सैदपुर गोपालपुर की सरिता, भिखईपुर की सुनीता। बीनबलिया थाना कोतवाली जनपद गाजीपुर की सुभावती देवी, बीमल, बिंदी, मटिया जंगीपुर की किरन, पूनम, किरन, सीमा, रीता, विरनो गाजीपुर की संजू देवी, सुनीता, उर्मिला, आजमगढ़ के सिधारी की रिंकू के साथ ही कैंट थाना क्षेत्र की गुड्डी, रोहनिया के मीरपुर पटनवा की तारा और जौनपुर के सिपाह थाना क्षेत्र के भंडरिया की आशा है। 

Posted By: Abhishek Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस