सोनभद्र, जागरण संवाददाता। आदिवासी और जंगल के इलाकों से समृद्ध सोनभद्र जिले में पुरातन मान्‍यताएं अक्‍सर विवाद और अपराध की वजह बनती हैं। इस बाबत कई बार जागरुकता अभियान चलाने के बाद भी जिले में जादू टोना जैसी मान्‍यताओं पर लगाम नहीं लग सका है। इस बाबत ग्रामीण अंचलों में आज भी वारदात की अधिकतर वजहों में जादू टोना और भूत प्रेत आदि मामले ही सामने आते हैं। इसी कड़ी में महिला की कुल्‍हाड़ी के बेंत से पीटकर हत्‍या करने का मामला सामने आया है। जिसमें हत्‍यारे ने कुल्‍हाड़ी को जंगल में छिपा दिया था। 

डाला में भूत- प्रेत के चक्कर में कुल्हाड़ी के बेंत से पीटकर महिला की हत्या के मामले में आरोपित को चोपन पुलिस ने कोटा ग्राम पंचायत के प्राथमिक विद्यालय वसुधा के पास से बुधवार को गिरफ्तार कर न्यायालय भेज दिया गया। यह बात सामने आई कि जादू टोना के शक में उसकी हत्या की गई थी। चोपन थाना प्रभारी ने बताया कि मंगलवार की सुबह भूत-प्रेत के चक्कर में वसुधा निवासी हीरालाल अगरिया ने कुल्हाड़ी के बेत से 48 वर्षीय चमेली निवासी जुड़ीदह को मार कर अधमरा कर दिया था। उपचार के लिए ले जाते समय रास्ते में उसकी मौत हो गई थी।

घटना के बाद चोपन पुलिस आरोपित की तलाश में जगह-जगह छापेमारी कर रही थी, तभी मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर वसुधा प्राथमिक विद्यालय जा पहुंची। जहां पहले से छिपा आरोपित हीरालाल को पकड़ लिया। पुलिस की पूछताछ के दौरान आरोपित ने बताया कि उसके एक वर्षीय पुत्र राजन को मृतका चमेली ने जादू-टोना करके मार दिया। इसी बात को जब वह चमेली से पूछने गया तो वह कहने लगी कि मैंने जादू टोना किया है। यह बात सुनकर उसे नागवार लगा जिसके बाद उसने उसे मार दिया। आरोपित की निशानदेही पर जुड़ीदह के जंगल से कुल्हाड़ी बरामद कर उसको जेल भेज दिया गया।

Edited By: Abhishek Sharma