वाराणसी, जेएनएन। मौसम दिन प्रतिदिन अपना रंग रुप ही नहीं तेवर और कलेवर भी बदल रहा है। पखवारे भर बाद शनिवार को दोबारा समूचा पूर्वांचल बादलों की कैद में रहा। मध्‍य प्रदेश से सटे कई पहाड़ी जिलों मीरजापुर और सोनभद्र के कुछ इलाकों में शनिवार तड़के मामूली बूंदाबांदी भी दर्ज की गई। मौसम विभाग ने हालांकि पहले ही लगातार तीन दिनों तक बादलों की आवाजाही और बारिश की आशंका जाहिर की थी। मौसम विज्ञानियों के अनुसार पूर्वी हवाओं का रुख होने की वजह से पर्याप्‍त नमी भी मिलने की वजह से बूंदाबांदी की सूरत बन रही है। वहीं कृषि वैज्ञानिकाें के अनुसार इस समय हल्‍की बारिश खेतों के लिए राहत लेकर आएगी और धान की अंतिम सिंचाई से किसानों को मुक्ति तो मिलेगी ही साथ ही सब्जियों की खेती में भी राहत मिलेगी।

वहीं दूसरी ओर लगातार कम हो रहे तापमान में शुक्रवार से शनिवार के बीच एक डिग्री तक का इजाफा भी देखा गया। हालांकि तापमान में यह मामूली इजाफा बारिश और बादलों की ओर ही इशारा कर रहा है। दूसरी ओर शनिवार की सुबह अंचलाें में ओस और कोहरे का भी मामूली असर रहा। मौसम विज्ञानियों के अनुसार बारिश अधिक तो नहीं मगर मौसम का यह रुख होने के बाद ठंड का और जल्‍द असर पूर्वांचल में देखने को मिल सकता है। जबकि अभी तक मौसम पखवारे भर से सामान्‍य गति से आगे बढ़ रहा था। इस पखवारे ही अधिकतम तापमान बीस डिग्री औ न्‍यूनतम तापमान तीस डिग्री से कम जाने की सूरत बन रही है। इस लिहाज से पखवारा खत्‍म होने के साथ ही गुलाबी ठंड की विदायी हो जाएगी और सर्दी का पूरी तरह आगमन हो जाएगा। 

बीते चौबीस घंटों में अधिकतम तापमान 33 डिग्री दर्ज किया गया जो सामान्‍य से ए‍क डिग्री अधिक रहा। वहीं न्‍यूनतम तापमान 21.1 डिग्री दर्ज किया गया जो सामान्‍य रहा। वहीं इस दौरान आर्द्रता अधिकतम 81 और न्‍यूनतम 71 फीसद दर्ज की गई। माैसम विभाग की ओर से जारी सैटेलाइट तस्‍वीरों में समूचा पूर्वांचल बादलों की कैद में है। हालांकि शुक्रवार को दोपहर बाद ही बादलों की सक्रियता शुरू हो गई थी मगर शाम ढलते ही बादल और सघन होते गए और शनिवार की सुबह पूरा आकाश बादलों की कैद में नजर आया। वहीं उम्‍मीद है कि शनिवार को दिन चढ़ने के साथ ही बादलों की सघनता और होती जाएगी वहीं वातावरण से पर्याप्‍त नमी मिली तो बादल बारिश भी करा सकते हैं। मौसम विभाग के अनुसार आने वाले 24 से 48 घंटों तक कम से कम बादलों की यह सक्रियता बनी रह सकती है। 

बदला मौसम, प्रदूषण घोंट रहा दम

दिल्ली के साथ ही पश्चिमी उप्र में वायु प्रदूषण के खतरनाक स्तर को लेकर हाय-तौबा मची है। इसे कम करने को लेकर सरकारी व निजी संस्थाएं जी-जान से जुटी हैं। वहीं अब बदलते मौसम के साथ बनारस की फिजा भी बदल गई है। हवा में लगातार प्रदूषक तत्वों की मात्रा बढ़ती जा रही है। पिछले पांच दिनों में पीएम-10 का स्तर क्रमश: 182, 240, 165, 191 व 178 रहा। वहीं शुक्रवार को हवा में पीएम-2.5 की मात्रा अधिकतम 269 रही। इसका स्वास्थ्य पर काफी बुरा प्रभाव भी पड़ रहा है। अस्पतालों में दमा व सीओपीडी (क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज) के मरीजों की संख्या कई गुना बढ़ गई है। 

पांच दिन में पीएम-10 का स्तर

दिनांक पीएम-10
18/10  182
17/10  240
16/10 165
15/10 191 
14/10  178

   

Posted By: Abhishek Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस