वाराणसी, जेएनएन। सीएम योगी आदित्यनाथ के शुक्रवार को शहर में होने के बाद भी बिजली व्यवस्था ध्वस्त रही। सुबह नौ बजे छावनी क्षेत्र में अंडरग्राउंड केबल में फाल्ट होने से लगभग एक दर्जन इलाकों में बिजली आपूर्ति बाधित रही। सुबह नौ बजे की गई बिजली देर शाम तक लौटी। हालांकि कुछ इलाकों में लगे ट्रांसफार्मर को अन्य फीडर से जोड़कर आपूर्ति की गई। दरअसल छावनी क्षेत्र में भूमिगत केबल में आई खराबी को पता करने में विभाग को नौ घंटे लग गए। वह भी तब जब सीएम शहर में थे।

फाल्ट किस जगह हुआ, इसका पता लगाने के लिए फाल्ट लोकेटर मशीन की मदद लेनी पड़ी। इसके बाद चौकघाट-खंड द्वितीय की 33 केवी की मेन सप्लाई बन करानी पड़ी। घंटों प्रयास के बाद खराबी दूर की गई। शाम लगभग छह बजे चौकाघाट-खंड द्वितीय की बिजली आपूर्ति चालू की गई। इस दौरान फाल्ट होने से पहले चौकाघाट खंड के कई फीडर बंद रहे। सुबह 11 बजे बिजली गुल होने से लोगों को पानी के लिए इधर-उधर भटकना पड़ा। लहुराबीर उपकेंद्र के एसडीओ अमित त्रिपाठी ने बताया कि अंडरग्राउंड केबल में फाल्ट आ गया था। आधे से अधिक इलाकों में अन्य फीडर से बिजली की आपूर्ति सुचारू कर दी गई। शाम लगभग छह बजे पूरे इलाकों में बिजली की आपूर्ति कर दी गई।

दो फीडरों में नहीं रुक रही ट्रिपिंग

पिछले दो दिनों से फीडर ट्रिपिंग की समस्या से बिजली उपभोक्ताओं की परेशानी बढ़ गई है। सुबह से लेकर रात तक आठ डीवीजन के कई फीडर ट्रिप करते रहे। दौलतपुर और रामनगर उपकेंद्र से जुडे फीडर सबसे अधिक ट्रिप कर रहे हैं। पांडेयपुर इलाके में बिजली के आने-जाने को लेकर उपभोक्ता आजिज आ चुके हैं। शुक्रवार को भी कई बार पांडेयपुर में बिजली आपूर्ति बाधित रही। रामनगर में भोर में बिजली की कटौती हुई। सुबह से लेकर दोपहर तक रामनगर का जनकपुर फीडर तीन बार ट्रिप कर गया। इसके अलावा बैंक कॉलोनी में दोपहर 12 बजे बिजली गुल हो गई। दोपहर तीन बजे तक यहां बिजली की सप्लाई चालू नहीं हो सकी थी।

Edited By: Abhishek Sharma