वाराणसी, जागरण संवाददाता। मंडुआडीह बाजार में विगत दो महीने से नगर निगम कर्मियों द्वारा सीवर सफाई के नाम पर सड़क खोद कर सीवर खोल दिया गया जिसके बाद सीवर का पानी सड़क पर बह रहा है। जिसकी दुर्गंध से आसपास के दुकानदारों का बुरा हाल है। जिसके चलते स्थानीय लोगों का कहना है कि नगर निगम से अच्छा तो ग्राम प्रधान था तो ऐसी समस्या होने पर वह गांव के होने के नाते उस समस्या को दूर करने में सहयोग करते थे। लेकिन, नगर निगम में आने के बाद तो स्थिति और बद से बदतर हो गयी।

मंडुआडीह आरओबी के नीचे सीवर की मुख्य लाइन है जिसे गंगा प्रदूषण विभाग द्वारा बनवाया गया था। लेकिन आरओबी के पिलर की पाइलिंग के समय यह पाइप ध्वस्त हो गयी थी यहां के स्थानीय निवासियों के विरोध करने पर सेतु निगम द्वारा सड़क के एक छोर पर ब्रांच लाइन डाल दी गयी और दूसरे छोर को छोड़ दिया गया। जिसका खामियाजा यहां के स्थानीय निवासी भुगत रहें हैं। कुछ दिन पहले नगर आयुक्त के साथ कैंट विधायक सौरभ श्रीवास्तव व जल निगम के अधिशासी अभियंता ओ.पी. सिंह व जूनियर इंजीनियर प्रीति अपने कर्मचारियों के साथ आकर यहां का निरीक्षण किया। अधिशासी अभियंता ने खुद अपने मातहतों से कहा कि आरओबी के नीचे की सीवर लाइन ध्वस्त हो चुकी है और स्थानीय नागरिकों को सड़क के दूसरी छोर पर जल्द से जल्द सीवर ब्रांच लाइन बिछाने का आश्वासन दिया।

लेकिन, नतीजा ढाक के तीन पात निकला और उनके कर्मचारियों द्वारा सड़क के एक छोर पर बिछे सीवर लाइन को साफ कर दिया गया तथा स्थानीय लोगों की शिकायत पर जाम हुए सीवर को खोद कर छोड़ दिया गया।जिसके चलते यहां की स्थिति दयनीय हो गयी है। यहां के निवासी तब से लगातार नगर निगम व जलकल विभाग व स्थानीय जनप्रतिनिधियों के यहां गुहार लगाते रहें लेकिन जिम्मेदारों की उपेक्षा के चलते रोजाना लोग इस सीवर में गिर कर चोटिल होकर मन ही मन जिम्मेदारों को कोस रहे हैं।

बगल में लगता है दुर्गा पूजा पंडाल : इस खुले सीवर से कुछ ही फ़ीट की दूरी पर आदर्श स्पोर्टिंग क्लब का दुर्गा पूजा पंडाल सजता है। स्थानीय नागरिक बबलू कुमार ने बताया कि हम लोगों द्वारा कई बार स्थानीय सभासद से लेकर अधिकारियों तक इस बाबत बात की गयी। लेकिन आश्वासन के सिवा अभी तक कुछ भी नही मिला। यहां के लोगों का यह भी कहना है कि अगर किसी के यहां घर के रुके हुए पानी मे डेंगू का लार्वा मिलता है तो नगर निगम उन्हें नोटिस थमा देता है। लेकिन महीनों से सड़क पर बह रहे सीवर के गंदे जल से क्या डेंगू या अन्य संक्रामक रोग फैलने की आशंका नही है।

Edited By: Abhishek Sharma