वाराणसी, जेएनएन। पूर्वांचल में मौसम का रुख इन दिनों ऐसा बदला हुआ है कि मानो ठंड कठुआ गई हो और सूरज का ओज भी गुम हो गया हो। मौसम विज्ञानियों के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के असर से मौसम का रुख ऐसा हुआ है और यह रुख सप्‍ताह भर तक कायम रहेगा। इस दौरान बादल, कोहरा, ठंडी हवा और गलन का मिला जुला रूप सामने आएगा। जबकि ठंडी हवाएं सुबह और शाम का तापमान प्रभावित करेंगी और रातों को सर्द बनाएंगी।  

रविवार की सुबह कोहरा मानो आकाश चढ़ गया हो और कोहरे की वजह से ठंड ने लोगों का हाल बेहाल कर दिया।सुबह ठंडी हवाओं का जोर रहा और दिन चढ़ते ही सूरज की रोशनी भी निढाल हो गई और राहत की तलाश में लोगों को निराशा ही हाथ आई। वातावरण में घुली ठंड रात से लेकर सुबह तक लोगों को कंपाती रही। अंचलों में इस दौरान कोहरा नजर आया तो शहर में धुंध का असर सुबह ही रहा। दिन चढ़ने तक सूरज की रोशनी गुम रही और वातावरण में घुली ठंडी हवाएं लोगों को कंपाती रहींं। दोपहर में भी आसमान में बदली की स्थिति बनी रही और शाम होने तक आसमान साफ नहीं हो सका। इसकी वजह से दिन भर गलन और ठंडी हवाएं काबिज रहीं और लोग ठंड से कांपते रहे। 

बीते चौबीस घंटों में अधिकतम तापमान 17 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से छह डिग्री कम रहा, न्‍यूनतम तापमान 10.6 डिग्री दर्ज किया गया जो सामान्‍य से दो डिग्री सेल्सियस कम रहा। आर्द्रता इस दौरान अधिकतम 93 और न्‍यूनतम 80 फीसद दर्ज की गई। मौसम विभाग की ओर से जारी सैटेलाइट तस्‍वीरों के अनुसार पूर्वांचल में मौसम का रुख सामान्‍य है और आसमान भी साफ बना रहेगा। हालांकि, कोहरे की वजह से बदली का अनुभव दिन भर बना रहेगा। 

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021