वाराणसी, जेएनएन। पूर्वांचल में मौसम का रुख अब बदला हुआ है, तापमान सामान्‍य भले हो चला हो लेकिन उमस का दौर जारी है। मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि अब मानसून विदायी की ओर है। इसके साथ ही वातावरण में बदलाव का दौर राहत भी देने लगा है। उमस भी है और पसीना भी खूब हो रहा है लेकिन सुबह का मौसम गुलाबी ठंड के जल्‍द दस्‍तक देने की तस्‍दीक कर रहा है। माना जा रहा है कि मौसम का रुख दोबारा कुछ दिनों में वातावरण में नमी का स्‍तर बढ़ने पर बदल सकता है। इसके साथ ही मौसम का रुख बदला तो बदलाव ठंड की ओर ही होगा। अब धूप में अधिक तेजी और तल्‍खी के साथ ही उमस का असर भी नहीं रह गया है। हालांकि, दोपहर बाद मेहनत करने पर उमस पसीना- पसीना भी कर रहा है।

शनिवार की सुबह आसमान साफ रहा और बादलों की मामूली सक्रियता का दौर बना रहा। सुबह ठंडी हवाओं का अहसास गुलाबी ठंडक महसूस कराता रहा तो दिन चढ़ने पर आठ बजे के बाद खुला मौसम लोगों को चुनौती भी देता लगा। मौसम विभाग के अनुसार इस पूरे सप्‍ताह मौसम का मिला जुला रुख रहेगा। दो दिनों में वातावरण में नमी मिली तो मौसम का रुख काफी हद तक बदलेगा। मगर अब सप्‍ताह भर के बाद सुबह मामूली ठंड का असर होने लगेगा और यह धीरे धीरे गुलाबी ठंडक में बदल जाएगा। 

बीते चौबीस घंटों में अधिकतम तापमान 33.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य रहा, न्यूनतम तापमान 24.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से एक डिग्री कम रहा। आर्द्रता अधिकतम 87 फीसद और न्‍यूनतमम 81 फीसद दर्ज की गई। मौसम विभाग की ओर से जारी सैटेलाइट तस्‍वीरों के अनुसार पूर्वांचल के आसपास बादलों की सक्रियता का दौर बना हुआ है। आने वाले दिनों में मौसम का रुख बदलेगा और दोबारा बादलों की सक्रियता तापमान में राहत देगी। फ‍िलहाल मौसम का रुख बदला हुआ है और वातावरण में धूप और उमस का मेल मौसम का मिजाज बदल रहा है। हालांकि, मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि आने वाले दो दिनों में दोबारा मौसमी बदलाव होगा।

Edited By: Abhishek Sharma