वाराणसी, इंटरनेट डेस्‍क। पूर्वांचल में मौसम का रुख अब ठंड की ओर होने लगा है, सुबह का तापमान भी कम हो रहा है और दिन चढ़ने पर उमस में भी कमी देखने को मिल रही है। मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि अब गुलाबी ठंड का असर पूर्वांचल में कम होने लगा है और मौसम में ठंडक का असर धीरे धीरे हावी हो रहा है। माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में मौसम का रुख थोड़ा और बदलेगा और सुबह का कुहासा कोहरे में बदल जाएगा। जबकि रात को पड़ने वाली ओस बादलों की सक्रियता पर लगाम कस रही है। माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में मौसम का रुख बर्फीली हवाओं की वजह से बदलेगा और कोहरा घना होने के साथ ही सुबह सिहरन महसूस होगा। 

बुधवार की सुबह आसमान साफ रहा और सुबह कुहासा का स्‍तर पूर्वांचल में नजर आता रहा। दिन चढ़ा तो आसमान में सूरज की रोशनी ने अपना अहसास दिलाया और सुबह की ठंडक का असर सुबह नौ बजे तक सामान्‍य हो गया। माना जा रहा है कि अब ठंडक का असर और भी गहराएगा। क्‍योंकि, पछुआ हवाओं का असर पूर्वांचल तक आने लगा है जिसकी वजह से पहाड़ों पर होने वाली बर्फबारी का असर ठंडक के रूप में पूर्वांचल को सिहरने पर विवश करेगी। हालांकि, यह असर पखवारे भर में होने लगेगा। 

बीते चौबीस घंटों में अधिकतम तापमान 32.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य रहा। न्‍यूनतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य रहा। आर्द्रता इस दौरान अधिकतम 67 और न्‍यूनतम 58 फीसद दर्ज की गई। मौसम विभाग की ओर से जारी सैटेलाइट तस्‍वीरों में पूर्वांचल में आसमान साफ बना हुआ है। मामूली बादलों की सक्रियता बंगाल की खाड़ी में होने के साथ ही पुरवा और नम हवाओं का असर पूर्वांचल में नजर आ रहा है। मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि पुरवा का असर बना रहा तो ही बादल सक्रिय होंगे अन्‍यथा पछुआ का रुख रहा तो पहाड़ों की ठंडी हवाओं का रुख पूर्वांचल में बना रहेगा।

Edited By: Abhishek Sharma