वाराणसी, इंटरनेट डेस्‍क। पूर्वांचल में मौसम का रुख तीन दिनों से बदला हुआ है, आसमान में बादलों की सक्रियता है और लोकल हीटिंग होने के बाद वातावरण में मौजूद पर्याप्‍त नमी बारिश भी करा रही है। जबकि वातावरण में पर्याप्‍त नमी होने की वजह से आने वाले समय में भी बूंदाबांदी और बादलों की सक्रियता का असर बना रहेगा। इसकी वजह से तापमान में भी कमी आएगी और आने वाले दिनों में उमस से राहत भी मिलेगी। आने वाले दिनों में तापमान में कमी आने की वजह से सुबह का तापमान भी कम होने लगेगा। 

गुरुवार की सुबह आसमान पूरी तरह बादलों की कैद में रहा और बारिश के साथ ही ठंडी हवाओं का भी दौर रहा। सुबह सात बजे तक कई इलाकों में जोरदार बारिश दर्ज की गई। हालांकि, इसके बाद बारिश थम गई। दिन चढ़ने पर आसमान में बादल भी कुछ कम हुए लेकिन सुबह आठ बजे तक धूप का कहीं कोई पता नहीं था। मौसम विभाग के अनुमानों के अनुसार ही बादलों की सक्रियता का दौर शुरू हो रहा है और आने वाले दिनों में मौसम का रुख बदला तो उमस का दौर भी शुरू होगा। लेकिन तापमान में अब अधिकता का दौर थम चुका है। उम्‍मीद है क‍ि पखवारे भर बाद तापमान तीस डिग्री के आस पास तक कम हो जाएगा। इसके बाद माह भर में सुबह की ठंडक कुहासा के रूप में नजर आने लगेगी।  

बीते चौबीस घंटों में अधिकतम तापमान 32.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से दो डिग्री सेल्सियस कम रहा, न्‍यूनतम तापमान 24.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से दो डिग्री कम रहा। इस दौरान 19 मिमी तक बारिश दर्ज की गई। जबकि आर्द्रता इस दौरान अधिकतम 85 फीसद और न्‍यूनतम 83 फीसद दर्ज की गई। मौसम विभाग की ओर से जारी सैटेलाइट तस्‍वीरों में पूर्वांचल और आसपास बादलों की सघनता बनी हुई है। जबकि मौसम विभाग ने अगले दिनों तक मौसम का यही रुख बना रहने की उम्‍मीद जताई है। इसके बाद आसमान साफ होगा लेकिन सप्‍ताह के आखिर में दोबारा बादलों की सक्रियता होगी और वातावरण से नमी मिली तो बूंदाबांदी भी होगी।

Edited By: Abhishek Sharma