वाराणसी, जेएनएन। सीवर ओवरफ्लो की समस्या स्वच्छता अभियान को पलीता लगा रही है। चहुंओर शिकायतें आ रही हैं और जिम्मेदार विभाग जलकल के अफसर व कर्मी दूसरे विभागों पर ठीकरा फोड़ने में लगे हैं। नगर निगम और जल निगम समेत अन्य विभागों पर सीवरलाइन को क्षतिग्रस्त करने का आरोप लगा रहे हैं। अफसरों के दांवपेच से आजिज महिलाओं ने गुरुवार को भोजूबीर सब्जी मंडी रोड पर चक्का जाम कर दिया। प्रदर्शन के दौरान जलकल विभाग को जमकर कोसा। महिलाओं का कहना था कि बीते एक माह से सरसौली क्षेत्र सीवर ओवरफ्लो की समस्या से जूझ रहा है।

पार्षद से लेकर जलकल व नगर निगम के अफसरों से शिकायत की गई, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। चक्काजाम की जानकारी होते ही मौके पर शिवपुर व कैंट थाने की पुलिस पहुंची। स्थानीय पार्षद सुनील सोनकर के सहयोग से नाराज महिलाओं को समझाकर सड़क से हटाया। हालांकि, कुछ देर के चक्का जाम में वाहनों की कतार लग गई, क्योंकि सुबह 9.30 अधिकतर लोगों को नौकरी-पेशे पर जाने की जल्दी थी। प्रदर्शन में पार्वती देवी, तारा देवी, सुनीता देवी, प्रदीप, महेंद्र, चंपा देवी आदि शामिल थीं।

थोड़ी देर चली मशीन, फिर लेते गए : चक्काजाम के बाद जलकल ने मशीन भेज सीवर ओवरफ्लो की समस्या दूर करने की कोशिश की। पार्षद सुनील सोनकर ने कहा कि भोजूबीर कांजी हाउस के पास मशीन थोड़ी देर लगाई गई, लेकिन राहत से पहले जलकलकर्मी उसे लेकर चले गए।

रात को निकले पार्षद, कराई सफाई : वहीं सिकरौल के पार्षद दिनेश यादव ने बुधवार की देर रात मौके पर जलकल व नगर निगम के अफसरों को बुला लिया। जेटिंग मशीन से डिठोरी महाल की सीवर ओवरफ्लो की समस्या दूर कराई। पार्षद ने बताया कि कई दिनों से सीवर ओवरफ्लो कर रहा था। जलकल ने अनसुना किया तो डीएम तक शिकायत करनी पड़ी।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप