गाजीपुर, जागरण संवाददाता। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शहर के आरटीआइ मैदान में एक घंटे तक जनसभा को संबोधित करेंगे। पीएम को सुनने के लिए जिले की सभी सातों विधानसभा सीटों से लोगों के आने का क्रम सुबह से ही शुरू हो गया था। दोपहर तक पूरा आरटीआइ मैदान भर गया। जोश से लबरेज कार्यकर्ता जमकर नारेबाजी करते हुए पहुंच रहे हैं।

शहीदों की धरती गाजीपुर और यहां के शहीदों को पीएम ने नमन किया। अब्‍दुल हमीद और उनकी पत्‍नी को भी मंच से याद किया। मनोज सिन्‍हा का जिक्र करते हुए कश्‍मीर को जिम्‍मेदारी से संभालने की जानकारी दी। कहा कि पांच चरणों में बीजेपी परचम लहरा चुकी है। बीजेपी की सरकार बननी तय है, लेकिन रिकार्ड जीत दिलाने के लिए एक-एक वोट जरूरी है। डबल इंजन सरकार को आपका एक एक वोट ऊर्जा देगा। आपका एक एक वोट उन घोर परिवार वादियों को करारा जवाब देगा। घोर परिवारवादी इस क्षेत्र को इतने दशकों से विकास से वंचित रखा। गाजीपुर की धरती का संबंध मां गंगा और कृषि से है। परिवारवादियों ने अपने स्‍वार्थ में पुण्‍य क्षेत्र की पहचान बदल कर रख दी। उनके शासन में यहां की पहचान गहमर के वीर न होकर माफ‍िया और बाहुबली बन गए थे। क्‍या आपको यह प‍हचान मंजूर है। यह पहचान बदलने का मौका है। इनको सजा दोगे? आपको परिवारवादियों को सत्‍ता से बाहर रखना है। हमारे दलित भाई-बहनों की बस्‍ती जलाई थी। गाजीपुर के लोग भूले नहीं हैं, वह दौर जब हमारे होनहार साथी कृष्‍णानंद राय को गोलियों से छलनी कर दिया था। दंगों में खुली जीप पर घूमने वाले योगी सरकार में घुटनों पर आ गए हैं। गाजीपुर को उन परिस्‍थतियों से निकालकर योगी शासन में गाजीपुर के विकास को प्राथमिकता दी गई है। 

पीएम ने कहा कि गाजीपुर का विकास सरकार की प्राथमिकता थी और इसे करके रहेंगे। आपकी बहुत बड़ी समस्‍या कनेक्टिविटी की थी। इस पर विशेष ध्‍यान दे रहे हैं आपको याद होगा ताड़ीघाट पुल की मांग छह दशक से थी। हमारी सरकार ने इसे पूरा किया। पूर्वांचल एक्‍सप्रेस वे भी शुरू हो चुका है। हमने गाजीपुर को काशी से जोड़ने के लिए हाईवे का निर्माण कराया है। गाजीपुर को बलिया और आजमगढ़ और बक्‍सर से जोड़ने का ऐसा ही काम चल रहा है। घोर परिवारवादियों ने सुख चैन भरा जीवन गुजारा है। महलों में जीना गाड़‍ियों में घूमने वाले गरीब का दर्द नहीं समझ सकते। जिनको चूल्‍हे के धुएं से तकलीफ होती है उनका दर्द नहीं समझ आता। गाजीपुर में उज्‍ज्वला का गैस कनेक्‍शन दिया। शौचालय की बात करने पर मजाक उड़ाते थे। परिवारवादियों को माताओं बहनों की पीड़ा समझ नहीं आई। इस पीड़ा को दूर करने का काम सरकार ने किया। यह असंवेदनशील लोग हैं। यह असहायों के पेंशन का पैसा खा जाते थे।   

आज भी इनकी नजर आपके विकास के लिए आए पैसों पर है। इसलिए आपको इन परिवारवादियों से सावधान रहना जरूरी है। गरीब के घर में बीमारी आ जाए तो इलाज का खर्च परिवार की कमर तोड़ देता है। हमने गाजीपुर के सवा दो लाख से अधिक गरीब परिवारों को आयुष्‍मान भारत का सुरक्षा चक्र दिया है। लोगों को बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य सुविधा मिले इसके लिए पूर्वांचल में मेडिकल कालेजों की संख्‍या बढ़ाई है। महर्षि विश्‍वामित्र कालेज भी खोला गया। विश्‍वनाथ सिंह गहमरी की बात याद आती है। नेहरू जी के सामने उन्‍होंने याद दिलाया था कि गरीब लोग गोबर से गेहूं निकालकर अपना पेट भरने को मजबूर हैं। जिसके दिल में गरीब के लिए दर्द हो वह गरीब को कभी ऐसी स्थिति में नहीं छोड़ सकता। पूरी दुनिया और मानव जाति पर कोरोना ने संकट पैदा किया। सौ साल का संकट था। लेकिन, हमने किसी गरीब को भूखा नहीं सोने दिया।   

पिछले दो साथ से भाजपा की डबल इंजन सरकार यूपी के 15 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन दे रही है। दो लाख साठ हजार रुपये खर्च हो रहे हैं। यही काम परिवा‍रवादियों को करना होता तो आपको दाने दाने के लिए तरसा देते और सारा पैसा खुद खा जाते। हमारी सरकार गरीब का जीवन बचाने को प्राथमिकता दे रही है। सभी को वैक्‍सीन जरूर लगे हमने सुनिश्‍चित किया। जो हजारों में दूसरे देशों में लग रही उसे मुफ्त में दिया जा रहा है। परिवार वादी लोग अफवाह फैला रहे थे। हमारी सरकार छोटे किसानों की जरूरत पर ध्‍यान दे रही है। आज गाजीपुर के पांच लाख किसानों को पीएम किसान सम्‍मान निधि का लाभ मिल रहा है। उन छोटे गरीब किसानों की कभी चिंता नहीं हुई। गरीबों का परिवार बढ़ा तो जमीन का बंटवारा हो जाता था। पांच लाख किसानों को साढे आठ सौ करोड़ रुपये अकेले गाजीपुर के पांच लाख किसानों के खाते में जमा किए गए। अगर कोई और सरकार होती तो कितने रुपये चबा जाते। 

आपको ध्‍यान रखना है घोर परिवार वादियाें की नजर आपको मिलने वाली राशि पर है। ऐसे लोगों को जगह नहीं देनी है। यह परिवार वादी चाहते हैं हमारा गरीब नागरिक लोग जातियों में बंट और बिखर जाएं। लड़ते रहें और उनका खेल चलता रहे। आपके लिए अपने क्षेत्र का विकास अपने देश का विकास अपने बच्‍चों का उज्‍ज्वल भविष्‍य आपके लिए सर्वोपरि है। माताओं बहनों बुजुर्गों को प्रार्थना करना चाहता हूं आपको जिस मुसीबत में अब तक जिंदगी जीनी पड़ी कोई नहीं चाहेगा उनके बच्‍चों को इस तरह जीना पड़े कतई नहीं चाहेगा। आपको भाजपा और सहयोग के रूप में एनडीए के साथी को जिताना होगा। आप घर-घर जाएं और मतदाताओं से मिलें और मेरा एक काम करें कि सभी को जाकर मेरा प्रणाम पहुंचाएं। 

मंच पर सबसे पहले साध्‍वी निरंजन ज्‍योति ने जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्‍होंने गाजीपुर में निषाद समाज की ओर से लोगों का अभिनंदन किया। इसके पूर्व पीएम का हेलीकाप्टर तीन बजे पुलिस लाइन में बने हेलीपैड पर उतरा। यहां से करीब चार बजे वह हेलीकाप्टर से वाराणसी के लिए रवाना हो गए। जर्मन हैंगर से भव्य पंडाल तैयार करने के साथ ही चारों तरफ बांस-बल्लियों से बैरिकेडिग की गई थी। 60 हजार कुर्सियों का इंतजाम किया गया है। एक लाख से अधिक लोगों के लिए व्यवस्था की गई है। पीएम के साथ प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह केंद्रीय मंत्री साध्वी निरजंन और संजीव बालियान भी सभा को संबोधित किया।

बाहर से आए छह एसपी, नौ एएसपी और 16 डिप्टी एसपी : एसपीजी के अधिकारी आंतरिक व पुलिस, पीएसी व केंद्रीय बल के जवान बाहर की सुरक्षा करेंगे। इसके लिए भारी संख्या में बाहर से फोर्स मंगाई गई है। शहर के सभी प्रमुख चौराहों पर एक सब इंस्पेक्टर के साथ आधा दर्जन पुलिसकर्मी होंगे। एक गेट से प्रवेश होगा और तीन बार होगी चेकिंग। पीएम की सुरक्षा में छह एसपी, नौ एएसपी, 16 डिप्टी एसपी, 45 इंस्पेक्टर, 175 से अधिक सब इंस्पेक्टर, 1500 से अधिक सिपाही व करीब पांच कंपनियां पीएसी के जवान तैनात हैं।

Edited By: Abhishek Sharma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट