वाराणसी, जेएनएन। जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने बुधवार को स्वास्थ्य कर्मियों के साथ हीट स्ट्रोक यानी लू से बचाव के संदर्भ में स्वास्थ्य महकमा की तैयारी को परखा। सीएमओ डा. वीबी सिंह ने बताया कि सभी पीएचसी में दो बेड, सीएचसी में चार बेड तथा मंडलीय अस्पताल व लाल बहादुर शास्त्री राजकीय चिकित्सालय में हीट स्ट्रोक के उपचार के लिए अलग से 8-8 बेड का अलग वार्ड आरक्षित किया गया है। पर्याप्त संख्या में ओआरएस पैकेट का स्टॉक है जिसे स्वास्थ्य कर्मी जरूरतमंदों को वितरित कर रहे हैं।

सीएमओ ने बताया कि जनपद स्तर पर हीट स्ट्रोक व संक्रामक रोग कंट्रोल रूम स्थापित है जिसके प्रभारी अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. जंग बहादुर ( मो. नं.-9918901467) है, को बनाया गया है। जिलाधिकारी ने हीट स्ट्रोक से बचाव के लिए लोगों से अपील की है कि वर्तमान में अत्यधिक तापमान, धूप, गर्म हवाएं व लू चल रहा है। इसके दृष्टगत अपने को सुरक्षित रखने की आवश्यकता है। इसके लिए घरों से बाहर नहीं निकलें। घरों से बाहर निकलने की स्थिति में सर को ढक कर रखें। मुंह को भी मास्क, गमछा, दुपट्टा रूमाल आदि से ढकें। शरीर में पानी की कमी नहीं होने पाए। शराब, धूम्रपान से बचें। जिलाधिकारी ने सीएमओ डा. वीबी सिंह से हीट स्ट्रोक के उपचार की मुकम्मल व्यवस्था करने का निर्देश दिया।

सभी स्वास्थ्य केंद्रों तथा जनपद स्तरीय चिकित्सालयों में अलग से वार्ड बनाने तथा वहां हीट स्ट्रोक के उपचार की समस्त आवश्यक चिकित्सकीय व्यवस्थाएं करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने ग्राम प्रधान, पार्षदगण, स्वयंसेवी संस्थाओं व अन्य सहयोगी संस्थाओं तथा व्यक्तियों इत्यादि से भी अपील किया कि आवश्यकतानुसार अपने क्षेत्र में मुफ्त प्याऊ की व्यवस्था कराएं। ग्रामीण क्षेत्रों में खराब पड़े हैंडपंपों को तत्काल ठीक कराएं। पेयजल स्थल पर ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव कराएं। निगरानी समिति के सदस्यों को भी निर्देशित किया कि बाहर से आने वाले प्रवासी व्यक्तियों में यदि हीट स्ट्रोक के लक्षण दिखाई दे तो तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र को सूचना दें।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस