वाराणसी, जेएनएन। शहर में कोरोना वायरस से पीड़ित दो मरीज जहाँ पूरी तरह ठीक हो चुके हैं वहीं दो अन्य मरीजों की रिपोर्ट भी निगेटिव आने से राहत मिली है। दरसल प्रशासन ने समय रहते सक्रियता दिखाते हुए समय से जांच और इलाज किया तो दो विदेश से लौटे मरीज पूरी तरह ठीक होकर घर चले गए। अब जमातियों में दो की रिपोर्ट निगेटिव आई है। हालांकि एक अन्य उमरा से लौटी महिला की रिपोर्ट अभी भी पॉजिटिव है। शेष गंगापुर की सास बहू की आगे भी रिपोर्ट का इंतजार है।

वहीं प्रशासन ने बताया है कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र शिवपुर में कोरोना वायरस संक्रमण के जांच के लिए कलेक्शन सेन्टर खुला है। 28 दिन के अन्दर विदेश अथवा प्रदेश के बाहर से आये ऐसे व्यक्तियों जिन्हें बुखार, खांसी एवं सांस लेने में तकलीफ हो अथवा किसी कोरोना पाजिटिव व्यक्ति के सम्पर्क में रहे हों अथवा किसी ऐसे विदेशी व्यक्ति के सम्पर्क में रहे हो, जिनमें संक्रमण के लक्षण हो अथवा हाल में मरकज निजामुद्दीन दिल्ली से आये हुये जमात के सदस्य हो उनके तत्काल जांच हेतु यह व्यवस्था की गयी है।

वाराणसी शहरी क्षेत्र के विभिन्न वार्डों में अब तक 7276 मरीज देखे गये हैं। जिसमें 738 सामान्य सर्दी, जुकाम, बुखार के व्यक्ति पाये गये। 28 व्यक्तियों को कोरोना संक्रमण के जांच हेतु सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र शिवपुर वाराणसी हेतु संदर्भित किया गया। जनपद क्षेत्रान्तर्गत गुरुवार को 2552 व्यक्तियों की थर्मल स्कैनिंग की गयी। अब तक एलबीएस एयरपोर्ट, बाबतपुर पर 16786, रेलवे स्टेशन पर 16200, होटल, लॉज, मठों आश्रमों में रूके 1352 विदेशी यात्रियों सहित कुल 56232 व्यक्तियों का थर्मल स्कैनिंग किया गया है। 

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के निर्देशानुसार सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र शिवपुर में मुख्य विकास अधिकारी मधुसूदन हुल्गी एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. वीबी सिंह द्वारा गुरुवार को कोरोना वायरस संक्रमण के जांच हेतु कलेक्शन सेन्टर का उद्घाटन किया गया। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. वी.बी. सिंह ने बताया कि 28 दिन के अन्दर विदेश अथवा प्रदेश के बाहर से आये ऐसे व्यक्तियों जिन्हें बुखार, खांसी या सांस लेने में तकलीफ हो अथवा किसी कोरोना पाजीटिव व्यक्ति के सम्पर्क में रहे हों अथवा किसी ऐसे विदेशी व्यक्ति के सम्पर्क में रहे हो, जिनमें संक्रमण के लक्षण हों अथवा हाल में मरकज निजामुद्दीन दिल्ली से आये हुये जमात के सदस्य हो उनके तत्काल  जांच हेतु यह व्यवस्था की गयी है। उन्होने बताया कि माइक्रोबायोलाजी बीएचयू में अब जांच के लिये तीन मशीने काम कर रही है। जिससे अधिक से अधिक व्यक्तियों की जांच सम्भव हो गयी है।

शहरी क्षेत्र के विभिन्न वार्डों में अब तक 7276 मरीज देखे गये

वाराणसी शहरी क्षेत्र के विभिन्न वार्डों में अब तक 7276 मरीज देखे गये। जिसमें 738 सामान्य सर्दी, जुकाम, बुखार के व्यक्ति पाये गये। 28 व्यक्तियों को कोरोना संक्रमण के जांच हेतु सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र शिवपुर वाराणसी हेतु संदर्भित किया गया। उल्लेखनीय है कि लॉक डाउन की स्थिति में मरीजों को हो रही असुविधा को देखते हुये शहरी क्षेत्र के 45 वार्डों में मोबाईल फ्लू क्लीनिक के माध्यम से क्षेत्रवासियों को चिकित्सकीय सेवाएं उनके क्षेत्र में ही प्रदान की जा रही है। इन मोबाईल वार्ड फ्लू क्लीनिक के बारे में जनसमुदाय तक आवश्यक जानकारी पहुंचाने के लिये 45 प्रचार वाहन भी लगाये गये है। जिसमें साउण्ड सिस्टम के द्वारा लोगों को मोबाईल क्लीनिक के बारे में जानकारी दी जा रही है। कजाकिस्तान से आये हुये दो भारतीय छात्र जिनके बारे में कल पता चला था, उन्होने पं. दीन दयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय के फ्लू ओपीडी क्लीनिक में उपस्थित होकर अपनी जांच करायी दोनो स्वस्थ्य पाये गये। आज सामुदायिक/प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, आराजीलाईन, सेवापुरी, बड़ागॉव, चिरईगॉव, भेलूपुर, में चिकित्सा अधीक्षकों, प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों एवं स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारियों द्वारा फ्रन्टलाईन वर्करों को कोरोना से बचाव एवं उपचार, निरोधात्मक कार्यवाही तथा आवश्यक सुरक्षा व्यवस्था के सम्बन्ध में प्रशिक्षण दिया गया।

कई जगहों पर की जा रही है जांच

कोरोनटाइन सेन्टर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र शिवपुर में 6 व्यक्ति, मण्डलीय प्रशिक्षण केन्द्र में 27 व्यक्ति, सेल्टर होम सिकरौल में 58 व्यक्ति, डूडा आश्रय स्थल परमानन्दपुर में 52 व्यक्तियों को कोरोनटाइन किये गये है। सभी के स्वास्थ्य की स्थिति ठीक है। कोरोनटाइन होम में कुल 16 ऐसे व्यक्ति जो विदेशों से आये भारतीय है सभी ठीक हैं और शासन के निर्देशों का पालन कर रहे है। वाराणसी जनपद के क्षेत्रान्तर्गत आज 2552 व्यक्तियों की थर्मल स्कैनिंग की गयी। अब तक एलबीएस एयरपोर्ट, बाबतपुर पर 16786, रेलवे स्टेशन पर 16200, होटल, लॉज, मठों आश्रमों में रूके 1352 विदेशी यात्रियों सहित कुल 56232 व्यक्तियों की थर्मल स्कैनिंग की गयी है। आज ग्रामीण क्षेत्र तथा शहरी क्षेत्र से 282 व्यक्तियों को होमकोरोनटाइन किया गया। अब तक जनपद में कुल 19406 व्यक्तियों को होमकोरोनटाइन किया गया है। पं दीन दयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय के मेडिकल कोरोनटाइन में 08 तथा सर सुन्दर लाल चिकित्सालय बीएचयू के कोरोनटाइन में 01 व्यक्ति भर्ती है। पं. दीन दयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय के आइसोलेसन वार्ड में 6 मरीज भर्ती है। माइक्रोबायोलाजी विभाग बीएचयू में अब तक कुल 346 नमूने जांच के लिए भेजे गये है। जिनमें 09 नमूने कोरोना पाजीटिव पाये गये, जिनमें से 02 अब निगेटिव हो गया है। 300 नमूने निगेटिव पाये गये है, 37 नमूनों के परिणाम आने शेष है। संदिग्ध मरीजों के लिये पं. दीन दयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय में आठ-आठ घण्टों के तीन शिफ्ट में 24 घण्टे ओपीडी संचालित की जा रही है। जिसमें जांच एवं परामर्श दिये जा रहे है। जनपद के अन्य राजकीय चिकित्सालयों में फ्लू के लिये अलग से कक्ष अथवा कार्नर स्थापित करते हुये अलग से ओपीडी संचालित की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग, नगर निगम एवं अग्निशमन विभाग द्वारा शहर के विभिन्न हिस्सों में हाइपो क्लोराइड, ब्लीचिंग एवं एण्टीलार्वा का छिड़काव किया गया। आज अग्नि शमन विभाग के पांच वाहनों द्वारा शहर के विभिन्न क्षेत्रों में सेनेटाइजेशन का कार्य किया गया। स्वास्थ्य विभाग द्वारा आज 19 स्थानों पर एण्टीलार्वा स्प्रे, 30 स्थानों पर सोडियम हाइपोक्लोराइड स्प्रे तथा 2 स्थान पर फॉगिंग करायी गयी। सार्वजनिक स्थानों, चौराहों पर माईकिंग द्वारा जन सामान्य को क्या करें-क्या ना करें की जानकारी दी जा रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में भी एण्टी लार्वा स्प्रे एवं ब्लीचिंग छिड़काव के साथ-साथ आशा एवं एएनएम द्वारा क्या करें -क्या न करें ! की जानकारी दी जा रही है। स्वास्थ्य केन्द्रों के साथ नगर निगम, पंचायत विभाग, एवं नागरिक सुरक्षा विभाग इत्यादि विभागों द्वारा जनसामान्य को आवश्यक जानकारी एवं सहायता प्रदान की जा रही है। शहर के सार्वजनिक चौराहों पर स्थापित डिस्प्ले तथा सरकारी वाहनों मे लगे साउण्ड हेलर के माध्यम से आवश्यक जानकारी दी जा रही है। सरकारी स्वास्थ्य केन्द्रों पर हेल्प डेस्क स्थापित किये गये है, जिनके माध्यम से बाहर से आये हुए व्यक्तियों तथा उनके परिजनों को सीधे तथा दूरभाष के माध्यम से सहायता तथा आवश्यक जानकारी दी जा रही है। हेल्प डेस्क के दूरभाष के माध्यम से आशा कार्यकर्तीयों से उनके क्षेत्रवासियों के स्वास्थ्य की स्थिति सहित ग्राम में साफ-सफाई, विसंक्रमण, एण्टी लार्वा छिड़काव इत्यादि की जानकारी ली जा रही है।

 

Posted By: Abhishek Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस