सोनभद्र, जेएनएन। तापमान में आ रही तेजी से कमी के कारण बिजली उत्पादन में कटौती लगातार जारी है। मांग में कमी के कारण शटडाउन वाली इकाइयों की संख्या 12 तक पहुंच गई है। इन इकाइयों को बंद कराकर 2767 मेगावाट उत्पादन कम कराया गया है। दिन में मांग के 10 हजार मेगावाट से भी कम होने के कारण कई चालू इकाइयों से भी कम उत्पादन कराया जा रहा है। पिछले एक सप्ताह में उत्पादन निगम की कुल 635 मेगावाट क्षमता की चार इकाइयों को बंद कराया गया है। वहीं केंद्रीय और निजी सेक्टर की आठ इकाइयों को शटडाउन पर लिया गया है, जिसमें प्रदेश का हिस्सा 2140 मेगावाट है। इसके अलावा उत्पादन निगम के ओबरा परियोजना की 200 मेगावाट वाली दसवी इकाई आरएंडएम के कारण बंद चल रही है। 

मांग में कमी जारी 

गुरुवार पीक आवर के दौरान अधिकतम प्रतिबंधित मांग 14369 मेगावाट के करीब रही ।शुक्रवार शाम चार बजे मांग 9365 मेगावाट तक लुढ़क गयी। प्रदेश के कई क्षेत्रों में गलन बढने के कारण मांग लगातार कम बनी हुयी है ।समाचार लिखे जाने तक उत्पादन निगम की चालू इकाइयों से 2351 मेगावाट उत्पादन हो रहा था। उधर निजी बिजली घरों से 3418 मेगावाट उत्पादन कराया जा रहा था। वहीं रिहंद डैम का जलस्तर 863.4 फिट होने के कारण पिपरी और ओबरा की कुल पांच जल विद्युत इकाइयों से शुक्रवार दिन में भी उत्पादन कराया जा रहा था। पिपरी की तीन इकाइयों से 109 मेगावाट तथा ओबरा की दो इकाइयों से 59 मेगावाट उत्पादन कराया जा रहा था। इसके अलावा खारा परियोजना से 15 मेगावाट उत्पादन हो रहा था। 

Posted By: Abhishek Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस