वाराणसी : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़ा लालपुर में बने ट्रेड फेसिलिटेशन सेंटर के दूसरे चरण का लोकार्पण 22 सितंबर को कर दिया है लेकिन खास यह कि इसी के साथ योजना पूरी नहीं हो रही क्योंकि ट्रेड फेसिलिटेशन सेंटर निर्माण को लेकर पीएम मोदी की बड़ी सोच है। इसके सहारे बनारस की थाती हस्तकला को विश्व स्तर तक पहचान देने का पूरा खांका तैयार किया है। कैसे देशी-विदेशी पर्यटक यहां आएंगे और बाजार को नई ऊंचाई मिलेगी आदि को सोच कर कदम बढ़ाया है।

पीएम की सोच के मुताबिक अब सड़कों पर काम होगा। इसके तहत पीडब्ल्यूडी जहां भोजूबीर से बड़ा लालपुर तक फोरलेन की सड़क बनाएगी तो वहीं बाबतपुर से बनारस की ओर आ रहे फोर लेन को परमानंदपुर की सड़क को चौड़ी कर जोड़ने की योजना बनी है। परमानंदपुर सड़क को बनाने की जिम्मेदारी वीडीए को दी गई है। इसी प्रकार पहली पट्टी चौराहे तक फोर लेन करने के साथ ही दूसरी तरफ से भी ट्रेड फेसिलिटेशन सेंटर को एयरपोर्ट से जोड़ने की कवायद पीडब्ल्यूडी करेगा। वहीं सारनाथ को ट्रेड सेंटर से जोड़ने के लिए ¨रग रोड का सहारा लिया जाएगा। ¨रग रोड से सिंहपुर व फरीदपुर की मिलने वाली सड़क को भी चौड़ा कर सारनाथ से ट्रेड सेंटर तक के सफर को आसान व छोटा किया जाएगा। भोजूबीर सड़क चौड़ीकरण कर आधुनिक ढंग से बनाया जाएगा। सड़क किनारे पटरी व नाली मुकम्मल रहेगी और हेरिटेज लाइटें लगाई जाएंगी। कचहरी फोरलेन से होटल व रेलवे स्टेशन जुड़ेंगे।

---

पर्यटन के दृष्टिगत लोकार्पण

पीएम ने इस बार जिन योजनाओं का लोकार्पण किया है उससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। यह कोई संयोग नहीं है कि ट्रेड सेंटर के साथ ही मानस मंदिर का डाक टिकट, दुर्गाकुंड, हेरिटेज वॉक, सारनाथ में लोटस पार्क व अन्य का लोकार्पण सोची-समझी रणनीति का नतीजा है। ये सभी कवायदें विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करेंगी और जब वे बनारस आएंगे तो बाजार भी जाएंगे क्योंकि यहां की हस्तकला विश्व प्रसिद्ध है।

Posted By: Jagran