वाराणसी, जेएनएन। बनारस शहर की कई खबरों ने सोमवार को चर्चा बटोरी जिनमें गंगा में आज से नौका संचालन शुरू, पंचायत के रिक्त पद पर निर्वाचन मतगणना, गजानन मिट्ठू पहुंचा दुधवा नेशनल पार्क, वाराणसी में जगाई अविरल गंगा की अलख, फीस भेजने का झांसा देकर ठगी आदि प्रमुख खबरें रहीं। जानिए शाम चार बजे तक की शहर-ए-बनारस की पांच प्रमुख और चर्चित खबरें।

 

वाराणसी में गंगा में आज से नौका संचालन शुरू, सुरक्षा मानकों की हो रही अनदेखी

जिला प्रशासन द्वारा छूट मिलने के बाद अब गंगा नदी में नौका संचालन का दौर सोमवार की सुबह सात बजे से शुरू हो गया है। गंगा नदी में पर्यटकों को सवारी कराने वाले नौका संचालकों की सक्रियता की वजह से नदी में रौनक शुरू हो गई है। सुबह सात बजे से शाम सात बजे तक गंगा नदी में नौका संचालन के लिए छूट मिलने के बाद अब नदी में आस्‍था की रौनक नजर आने लगी है। हालांकि, मानसून आने के बाद अब गंगा के जलस्‍तर में बढोतरी होगी और कुछ दिनों बाद पानी बढ़ने की वजह से नौका संचालन पर दोबारा पाबंदी लगा दी जाएगी। बाढ़ उतरने के बाद ही गंगा में दोबारा नौका संचालन को अनुमति मिलेगी। सोमवार की सुबह गंगा नदी में स्‍नान ध्‍यान और बाबा दरबार में हाजिरी लगाने वालों की संख्‍या काफी रही। अनलाॅक घोषित होने के बाद गंगा नदी के साथ ही बाबा दरबार में भी लोग सोमवार की सुबह दर्शन पूजन के लिए पहुंचे। गंगा तट पर आस्‍था की लहरें नौका संचालन में छूट के साथ ही लेनी लगी थीं। अब सोमवार से इसे अमलीजामा मिलने के बाद नौका संचालकों में भी उत्‍साह काफी नजर आया।

 

वाराणसी में त्रिस्तरीय पंचायत के रिक्त पद पर निर्वाचन मतगणना, एक घण्टे बाद आने लगे परिणाम

त्रिस्तरीय पंचायत के रिक्त पदों पर पड़े वोटों की गिनती जिले के आठों ब्लाक में सुबह आठ बजे से शुरू हो चुकी है। मतपत्रों की छटाई व् बंडलिंग का कार्य लगभग अंतिम दौर में है। परिणाम एक घण्टे में आने लगेंगे। मतगणना के लिए ब्लाकों पर सुरक्षा की मुकम्मल व्यवस्था की गई है। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के निर्देश के क्रम में जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेट ब्लाकों पर बने मतगणना स्थल पर डटे हुए हैं।कोविड गाइडलाइन का भी पूरी तरह अनुपालन कराया जा गया है। जिले में ग्राम प्रधान के रिक्त तीन, जिला पंचायत के एक व ग्राम पंचायत सदस्य के 209 रिक्त पदों पर चुनाव में कुल 56 फीसद वोट पड़े थे। जिला पंचायत सदस्य के एक मात्र रिक्त सीट चिरईगांव ब्लाक के सेक्टर चार पर चुनाव हुआ था। आरक्षित एससी महिला सीट पर 13 प्रत्याशी मैदान में थीं। इन सभी का भाग्य का फैसला शाम 4 बजे तक हो जाएगा।

 

वाराणसी से गजानन मिट्ठू पहुंचा दुधवा नेशनल पार्क, बीस माह बाद बेड़ियों से मिली आजादी

रामनगर नगर स्थित काशी वन्य जीव प्रभाग के परिसर में लगभग बीस माह से बेड़ियों में जकड़ा गजानन मिट्टू आखिरकार 17 घंटा के सफर के बाद सोमवार की सुबह दुधवा नेशनल पार्क पहुंचा। रविवार को यहां से हाईड्रोलिक एलीफेंट ट्रांसपोर्टिंग वैन से ले जाया गया। दुधवा नेशनल पार्क के डा.दयाशंकर सहित चार महावत व मथुरा के एसओएस संस्था से डा.राहुल भटनागर की निगरानी में गजानन को ले जाने की कार्रवाई की गई। हाईड्रोलिक एलीफेंट ट्रांसपोर्ट वैन में लादने से पहले वन विभाग की ओर से कार्यालय के पीछे काशीराज परिवार की खाली भूमि पर लगभग चार फिट खड्डा गोदकर प्लेटफार्म बनाया गया। एक घंटा की कड़ी मेहनत के बाद गजानन को वैन में लादा जा सका। चारों तरफ से बंद ऊपर से खुले वैन के आगे वाले भाग में महावत को बैठने की व्यवस्था बनी हुई थी। सुरक्षा के लिहाज से टीम की ओर से खीरा में कुछ दवा मिलाकर हाथी को खिलाया गया। हाथी को ले जाने से पहले टीम ने हाथी का परीक्षण किया। इस दौरान हाथी पूरी तरह स्वस्थ था।

 

निर्मल अविरल गंगा : वाराणसी में जगाई अविरल गंगा की अलख, ली गई शपथ

सोमवार मां गंगा के लिए सुखकारी दिन रहा। नमामि गंगे, नगर निगम, वन विभाग, सीआरपीएफ, गंगा टास्क फोर्स, नेहरू युवा केंद्र, सामाजिक सुजन संस्था, बेस इंडिया ने उत्तरवाहिनी मां गंगा के तट की साफ - सफाई की। इस दौरान सुबह सभी घाटों पर स्वच्छता अभियान चला। घाटों के कोने-कोने को साफ किया गया। जिलाधिकारी वाराणसी के आवाह्न पर जिला गंगा समिति के तत्वावधान में आयोजित बृहद स्वच्छता अभियान में गंगा स्वच्छता की सभी ने शपथ ली। इस दौरान पतित पावनी मां गंगा के लिए हजारों संकल्पबद्ध हुए। नमामि गंगे की टीम ने दशाश्वमेध घाट पर मां गंगा की तलहटी साफ की। गंगा मैया की जय के बीच संयोजक राजेश शुक्ला के नेतृत्व में टीम की महिला और पुरुष सदस्यों ने उत्साह पूर्वक गंगा में पड़ी पॉलिथीन, कपड़े, तस्वीरें व अन्य गंगा को प्रदूषित कर रही सामग्रियों को कूड़ेदान तक पहुंचाया।" सबका साथ हो, गंगा साफ हो" के नारे संग प्रत्येक काशीवासी को गंगा स्वच्छता से जुड़ने की अपील भी की।

 

हो जाएं सावधान! वाराणसी में बच्चे की फीस भेजने का झांसा देकर 22 हजार की ठगी

साइबर क्राइम के मामले रुकने का नाम नही ले रहे। कोरोना महामारी के आपदा में जालसाज अवसर तलाश जनता को ठगने हेतु नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं। बच्चों की आनलाइन फीस भेजने का झांसा देकर रविवार की रात साइबर जालसाज ने शिक्षक सुरेंद्र नाथ मिश्र के खाते में मौजूद 22 हजार पांच सौ रुपए ठग लिए। सोमवार की दोपहर शिक्षक ने थाने में पहुंच रिपोर्ट दर्ज करने हेतु बैंक खाते के स्टेटमेन्ट संग जालसाज के दो अज्ञात मोबाइल नम्बरों के खिलाफ तहरीर दी। मिर्जामुराद के अषाढ़ गांव निवासी सुरेंद्र नाथ मिश्र क्षेत्र के ही गौर गांव स्थित एसएनएस स्कूल में शिक्षक होने के साथ ही कार्यालय का काम देखते हैं। शिक्षक के मोबाइल पर साइबर जालसाज ने फोन कर अपने दो बच्चों के आनलाइन फीस जमा करने हेतु फोन पे एप पूछा। इसके बाद जालसाज ने पांच-छह मैसेज भेजे। मैसेज भेजने के बाद जालसाज ने दूसरे नम्बर से फोन कर मैसेज के बगल में दिख रहे ओके के आप्‍शन का बटन दबा बैलेंस चेक करने को बोला। उक्त मैसेज को ओके करते ही खाते से दो बार में 22 हजार पांच सौ रुपया निकल गया।

Edited By: Abhishek Sharma