वाराणसी, जेएनएन। बनारस शहर की कई खबरों ने सोमवार को चर्चा बटोरी जिनमें गंगा में उफान से नौका संचालन बंद, पेट्रोलपंप पर फटा डीजल चैंबर वॉल्व, बाबा दरबार में आस्‍था की कतार, बीएचयू में कमेटी पुनर्गठित, वातावरण में नमी का असर आदि प्रमुख खबरें रहीं। जानिए शाम चार बजे तक की शहर-ए-बनारस की पांच प्रमुख और चर्चित खबरें।

गंगा में उफान से नौका संचालन बंद, घाटों का संपर्क टूटने के बाद गलियों में सजने लगीं चिताएं

कई दिनों से पहाड़ों और मैदानी क्षेत्रों में रह रहकर हो रही झमाझम बरसात के बाद से नदियों का जलस्‍तर भी अब बढ़ गया है। दो दिनों से गंगा नदी में बाढ़ आने और घाटों का आपसी संपर्क टूटने की वजह से नदियों में नौका का संचालन बंद होने की संभावनाएं बढ़ गई थीं। आखिरकार गंगा में उफान आने के बाद वाराणसी में जल पुलिस ने गंगा में नौका संचालन अगले आदेश तक के लिए बंद कर दिया है। जल पुलिस की ओर से बताया गया कि दो दिनों से गंगा का जलस्‍तर अकस्‍मात तेजी से बढ़ने लगा है, पानी का वेग तेज होने से हादसे की संभावनाओं से इन्‍कार नहीं किया जा सकता। ऐसे में बाढ़ को देखते हुए गंगा में नौका संचालन पर अग्रिम आदेश तक रोक लगाई गई है।

वाराणसी में कैंट स्‍टेशन के सामने पेट्रोल पंप पर फटा डीजल चैंबर वॉल्व, गैस से झुलस गया युवक

कैंट स्टेशन के सामने स्थित पेट्रोलपंप पर सोमवार को सुबह 11 बजे डीजल चैंबर का वॉल्व फटने से अफरातफरी मच गई। इसकी चपेट में आने से एक टैंकर का खलासी झुलस गया। कर्मचारियों की सहायता से उसे मंडलीय अस्पताल भेज दिया गया। हालांकि, हालात बिगड़ने से पहले ही उसपर काबू पा लिया गया। इसके बाद सभी ने राहत की सांस ली। वहीं हादसे के बाद पेट्रोल पंप कर्मचारी ने पानी की ठंडी फुहार डालकर प्रेशर से बने तापक्रम को नियंत्रित किया तो स्थिति सामान्‍य हो गई। कैंट रेलवे स्टेशन के ठीक सामने स्थित भारत पेट्रोलियम के मुसाराम शाह पेट्रोलपंप पर सुबह 11 बजे टैंकर से डीजल अनलोड करने की तैयारी चल रही थी। डीजल अनलोड करने से पहले टैंकर खलासी बिहार निवासी सुनील (34) चैंबर में डिप चेक करने गया। डीजल चैंबर का ढक्कन हटाते ही उसमें धमाका हुआ। गैस का अत्यधिक दबाव बढ़ने से चैंबर में लगा वॉल्व फट गया। इस दौरान अचानक गर्म गैस की तपिश से खलासी सुनील झुलस गया।

सावन के दूसरे सोमवार पर बाबा दरबार में आस्‍था की कतार, मंगला आरती के बाद बम-बम हुई काशी

सावन माह के दूसरे सोमवार के मौके पर श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में मंगला आरती के बाद श्रद्धालुओं का दर्शन पूजन का दौर शुरू हुआ तो सुबह दस बजे तक करीब 15 हजार लोग बाबा दरबार में हाजिरी लगा चुके थे। श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में मंगला आरती के पश्चात अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने प्रसाद वितरण किया। परिसर में बैरिकेडिंग और बाबा कोरोना गाइड लाइन का अनुपालन करते हुए श्रद्धालुओं को प्रवेश दिया गया। एक एक कर आस्‍थावानों की भीड़ बाबा दरबार में प्रवेश करती रही और परिसर हर हर बम बम के उद्घोष से गूंजता रहा।

स्पेशल कोर्स और रिसर्च टेस्ट पर बीएचयू में कमेटी पुनर्गठित, एक चेयरमेन समेत 21 सदस्य शामिल

बीएचयू में स्पेशल कोर्स और रिसर्च एंट्रेंस टेस्ट के लिए एक कमेटी पुनर्गठित कर दी गई है। बीएचयू में विज्ञान संस्थान के निदेशक प्रो. ए के त्रिपाठी को कमेटी का चेयरमेन नियुक्त किया गया है। वहीं उनके अलावा बीएचयू के सभी संकायों और अधिकारियों को मिलाकर 21 लोगों को सदस्य बनाया गया है। यह कमेटी बीएचयू में संचालित विशेष पाठ्यक्रमों के नियमों को तय करने के अलावा विश्वविद्यालय के रिसर्च एंट्रेंस टेस्ट की विषयवस्तु में सुधार, बदलाव और नए-नए विषयों को जोड़ने संबंधी सुझाव भी देगी। यह कमेटी बीएचयू की सबसे बड़ी कमेटियों में से एक है। कुलसचिव कार्यालय (शिक्षण) से जारी हुई एक अधिसूचना में बताया गया है कि यह कमेटी समय-समय पर अपने सुझावों को रखेगी, जिसके आधार पर निर्णय किया जाएगा। इस कमेटी में सदस्य के तौर पर कृषि विज्ञान संस्थान के निदेशक, विज्ञान संकाय की डीन, कृषि विज्ञान के संकाय प्रमुख, कला संकाय के डीन शामिल हैं।

Varanasi City Weather Update : वातावरण में नमी का असर बरकरार, धूप खिली तो बढ़ेगी उमस

वातावरण में पर्याप्‍त नमी से पूरे सप्‍ताह बादलों की आवाजाही और धूप छांव के बीच बूंदाबांदी का रुख बना रहा। हालांकि, मौसम विभाग इस पूरे सप्‍ताह बादलों की सक्रियता का अंदेशा जताया है। क्‍यों‍कि मानसूनी द्रोणिका के बनने से हालात बारिश के काफी अनुकूल हुए हैं। वातावरण में नमी है और धूप होने पर लोकल हीटिंग भी पर्याप्‍त हो जा रही है। मौसम का रुख बदला तो बारिश भी होगी और दिन के उमस से राहत भी मिलेगी। मौसम विभाग की ओर से आने वाले दिनों में मौसम का रुख बदलने की उम्‍मीद है तो अगले पखवारे से सुबह के तापमान में कमी के साथ ही सुबह की धूप में भी कमी आएगी। सोमवार की सुबह आसमान में बादलों की आवाजाही के बीच आसमान भी साफ होता रहा। बादलों की आवाजाही की वजह से धूप छांव का दौर भी जारी रहा। सुबह से ठंडी हवाओं का दौर बना रहा और दिन चढ़ने के साथ ही ठंडी हवाओं का असर थमता चला गया। सुबह नौ बजे के बाद धूप से थोड़ी तल्‍खी भी महसूस हुई।

Edited By: Abhishek Sharma