बलिया, जेएनएन। सदर कोतवाली पुलिस ने तिखमपुर के पास से शुक्रवार की देर रात एटीएम लूटने आए तीन बदमाशों को  गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से पेंचकश, राड, तमंचा व जिंदा कारतूस बरामद किया गया है। बदमाशों ने एटीएम के स्क्रीन व कैश बाक्स के गेट को तोड़ दिया था लेकिन कैश लाकर नहीं तोड़ पाए। पुलिस ने यह कार्रवाई बैंक के सर्विलांस व सिक्योरिटी सिस्टम हैदराबाद की सूचना पर त्वरित गति से की।

सदर कोतवाली विपिन सिंह को बैंक के सर्विलांस व सिक्योरटी सिस्टम हैदराबाद से सूचना मिली कि तिखमपुर स्थित आईसीआईसीआई बैंक के एटीएम को लूटने का प्रयास किया जा रहा है। वहां पर एटीएम से कोई छेड़छाड़ कर रहा है। इसे गंभीरता से लेते हुए वारलेस सेट से उन्होंने मंडी चौकी इंचार्ज अजय यादव व क्षेत्र के मार्शल टीम को तत्काल पहुंचने का निर्देश दिए। इसके बाद वह स्वयं भी वहां के लिए निकल गए। वहां पर पुलिस ने देखा कि एक व्यक्ति एटीएम के मुख्य द्वार के पास खड़ा था। वह पुलिस को देखकर बांसडीह रोड की तरफ भागने लगे। इस पर मार्शल सवार जवानों ने कुछ दूरी पर दौड़ाकर पकड़ लिया। उसी समय दो व्यक्ति निकलकर एनसीसी तिराहे की तरफ भागने लगे।

इन दोनों को भी पुलिस ने घेराबंदी कर पकड़ लिया। पुलिस की तलाशी में तीनों के पास से तमंचा व जिंदा कारतूस व एटीएम तोडऩे के लिए राड, पेचकश मिला। पुलिस की पूछताछ में पकड़े गए नारायण निवासी दलौदा, भावगढ़, मंदसौर मध्य प्रदेश, महेंद्र परतिथि निवासी टामिया छिदवाड़ा, मध्यप्रदेश व मोहम्मद राशिद निवासी कल्याणपुर, रतनपुरी, मुज्जफरनगर यूपी ने बताया कि हम सभी शहर में रखकर गैल-वे कंपनी में मार्केटिंग का काम करते थे। उसी के दिए गए आवास में रहते थे। लाकडाउन में सामान न बिकने के कारण कंपनी द्वारा निकाल दिया गया था। इसके कारण हम सभी के पास से पैसे खत्म हो गए थे। ऐसे में हम तीनों ने पैसे के लिए एटीएम तोड़कर पैसा निकलाने की योजना बनाई थी। सदर कोतवाल विपिन सिंह ने बताया कि एटीएम का स्क्रीन इन बदमाशों ने तोड़ दिया था। ये सभी कैश बाक्स का गेट तोड़ दिए थे लेकिन कैश लाकर नहीं खोल पाए थे।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप