जागरण संवाददाता, वाराणसी : संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय में 24 दिसंबर को आयोजित दीक्षांत समारोह की तैयारी काफी धीमी गति से चल रही है। इस तैयारी के लिए अब महज 12 दिन बचे हैं लेकिन अब तक पंडाल के लिए टेंडर तक नहीं आमंत्रित किए जा सके हैं।

समारोह की तैयारियों को लेकर कुलपति प्रो. यदुनाथ दुबे की अध्यक्षता में मंगलवार को विभिन्न समितियों के संयोजकों की बैठक बुलाई गई। इस दौरान पंडाल समिति के संयोजक प्रो. पीएन सिंह ने पंडाल के लिए अब तक टेंडर न होने की बात उठाई। उन्होंने बताया कि इस संबंध में वित्त अधिकारी से भी वार्ता हुई। उन्होंने ई-टेंडर करने की बात कही। बावजूद न सामान्य टेंडर हो सका और न ई-टेंडर। इस मुद्दे पर कुलपति ने बुधवार को फिर बैठक बुलाई है। इसमें वित्त अधिकारी व कुलसचिव भी आमंत्रित किए गए हैं ताकि ई-टेंडर की प्रक्रिया तत्काल की जा सके। बहरहाल स्वर्ण पदक व स्नातक नामावली समिति के संयोजक ने बताया कि गोल्ड मेडलिस्टों की सूची विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर अपलोड की जा चुकी है। इतना ही नहीं मेडल बनवाने के लिए आर्डर भी दिए जा चुके है। इस दौरान यह भी निर्णय लिया गया कि 14 दिसंबर तक मौखिकी करा लेने वाले शोधार्थियों को इसी दीक्षांत समारोह में पीएचडी की स्थाई उपाधि वितरित की जाएगी। इसी प्रकार अन्य संयोजकों ने तैयारी के संबंध में प्रगति प्रस्तुत किए। बैठक में परीक्षा नियंत्रक प्रो. राजनाथ भी थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप