बलिया, जागरण संवाददाता। सीबीएसई रिजल्‍द में 46.2% अंक की वजह से नगर के समाजसेवी बब्लू पाण्डेय के इकलौते बेटे 17 वर्षीय अंश ने फंदे पर लटकरकर जान दे दी। फांसी के फंदे पर लटककर कर हुई मौत से आक्रोशित छात्रों ने बुधवार के दिन मनःस्थली एजूकेशन सेंटर रेवती के समाने रेवती - बैरिया मार्ग पर धरना के साथ सड़क जाम कर दिया। जिससे सड़क के दोनों तरफ वाहनों की कतार लग गई ।

छात्रों का आरोप था कि स्कूल द्वारा गलत डाटा भेजे जाने से अंश का मार्क कम आया जिसके चलते उसने जान दे दी। छात्रों ने मांग किया कि मृत छात्र के परिजनों को 10 लाख रूपये मुआवजा, स्कूल प्रांगण में उसकी प्रतिमा स्थापित करने तथा स्कूल प्रशासन द्वारा अलग से आर्थिक सहायता पीड़ित परिवार को दिलाये जाने की मांग की। उधर, विद्यालय के प्रधानाचार्य चन्द्र मोहन मिश्र का कहना था कि कक्षा 9 और दसवीं के प्री बोर्ड का अंक बोर्ड में भेजा गया था। उसी के अनुरुप रिजल्ट आया है। इसमें विद्यालय निर्दोष है। अगर गड़बड़ी हुई होगी तो बोर्ड जिम्मेदार है।

मौके पर पहुंचे एसएचओ यादवेंद्र पाण्डेय व प्रबंधक डा. अरुण प्रकाश तिवारी ने भी छात्रो को समझाने का प्रयास किया लेकिन छात्र जिद पर अड़े हुए थे। बाद में सूचना पर पहुंचे एसडीएम बैरिया अभय कुमार सिंह, सीओ बैरिया राजेश कुमार तिवारी ने छात्रों से कई चक्र वार्ता की। कहा कि आर्थिक सहायता के लिए शासन से संस्तुति की जायेगी। विद्यालय में मृत छात्र की प्रतिमा लगाना उचित नहीं कहा जायेगा। किन्तु इसके बाद भी छात्र जिद पर अड़े रहे। तीन घंटा चले धरना प्रदर्शन के दौरान छात्रों ने विद्यालय के गेट को हिलाना शुरू किया तो अंत में पुलिस ने सख्ती करते हुए दो युवकों को हिरासत मे ले लिया। इसके बाद सख्ती करने पर धरना व जाम समाप्त कराया।

Edited By: Abhishek Sharma