वाराणसी, जेएनएन। केंद्र व प्रदेश सरकार की नीतियों को जनविरोधी करार देते हुए सपा 19 दिसंबर को धरना देगी। राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के आह्वान पर किए जा रहे धरने को विशाल रूप देने के लिहाज से मंगलवार को पार्टी के अर्दली बाजार दफ्तर में बैठक की गई। अध्यक्षता करते हुए जिलाध्यक्ष डा. पीयूष यादव ने कहा कि किसान-नौजवान, युवा व महिलाएं बेकारी, मंहगाई, अत्याचार से जूझ रहे हैैं। वहीं सरकार नागरिकता बिल के जरिए देश और समाज को बांटने की साजिश में जुटी है। महानगर अध्यक्ष राजकुमार जायसवाल ने कहा कि भाजपा सरकार की नोटबंदी और जीएसटी से व्यापार-धंधा चैपट हो गया है। संचालन जिला व महानगर महासचिव डा. रमेश राजभर व जितेंद्र यादव ने किया। शालिनी यादव, शमीम अंसारी, पूजा यादव, डा. आनंद प्रकाश तिवारी, आनंद मोहन गुड्डू यादव, लालजी सोनकर, पारसनाथ जायसवाल, संजय मिश्र, मो. असलम, राजू यादव, आशुतोष सिन्हा, वरुण सिंह, विष्णु शर्मा आदि ने विचार व्यक्त किए।

सपा का जिला कार्यालय पर प्रदर्शन

मुहम्मदाबाद गोहना शहीद चौराहा स्थित समाजवादी पार्टी कार्यालय पर मंगलवार को कार्यकर्ताओं की बैठक हुई। इसमें गुरुवार को जिला मुख्यालय पर होने वाले धरना प्रदर्शन की रूपरेखा तैयार की गई। बैठक में पूर्व विधायक बैजनाथ पासवान ने कहा कि प्रदेश के आह्वान पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। इसका मुख्य एजेंडा किसानों की समस्या, बेरोजगारी, मंहगाई, महिलाओं के साथ दुष्कर्म, ध्वस्त कानून व्यवस्था बुनकरों का फ्लैट रेट समाप्त करना व नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में कलेक्ट्रेट परिसर में धरना प्रदर्शन किया जाएगा। बैठक के आखिर में सभी कार्यकर्ताओं से पासवान ने आह्वान किया कि निर्धारित समय पर जिला मुख्यालय पहुंचे।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस