वाराणसी, जेएनएन।  संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय छह नए कोर्स शुरू करने का निर्णय लिया है। ज्योतिष, कर्मकांड, वास्तु शास्त्र, योग, संगणक (कंप्यूटर) व शास्त्रीय संगीत में सर्टिफिकेट कोर्स में दाखिले के लिए आवेदन जुलाई से वितरित किए जाएंगे। इसमें तीन डिप्लोमा व तीन सर्टिफिकेट स्तर के कोर्स हैं।

कुलपति प्रो. राजाराम शुक्ल ने बताया कि ज्योतिष, कर्मकांड व वास्तुशास्त्र में डिप्लोमा कोर्स पहले चलते थे। किन्हीं कारणवश यह बंद हो गया था। जुलाई से इन कोर्सों को फिर से शुरू किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि शास्त्री-आचार्य व संस्कृत प्रमाणपत्रीय में दाखिले के लिए अब तक 1053 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। जबकि सत्र 2018-19 में इन पाठ्यक्रमों में 1312 छात्र पंजीकृत थे। ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि 19 जून है। नए सत्र में  करीब 1500 से 2000 छात्रों के नामांकन होने की उम्मीद है। शास्त्री-आचार्य में दाखिला मेरिट के आधार पर होगा।

अंकपत्र की छाया प्रति 21 तक जमा करने का मौका

अंकपत्र के अभाव में भी दाखिले के लिए आवेदन किया जा सकता है। शर्त यह है कि 21 जून तक अभ्यर्थियों को अंकपत्र की छाया प्रति आवेदन की हार्ड कापी के साथ संलग्न करनी होगी।

मेरिट सूची का प्रकाशन 25 को

शास्त्री, आचार्य व संस्कृत प्रमाणपत्रीय में दाखिले के लिए मेरिट सूची का प्रकाशन 25 जून को होगा। वहीं काउंसिलिंग पांच से आठ जुलाई तक होगा।

द्वितीय व तृतीय खंड के छात्रों के लिए भी पंजीकरण अनिवार्य

शास्त्री द्वितीय व तृतीय खंड व आचार्य द्वितीय खंड के छात्रों को भी ऑनलाइन पंजीकरण करना अनिवार्य होगा।

शास्त्री-आचार्य में आवेदनों की संख्या

704 शास्त्री

343 आचार्य

07 संस्कृत प्रमाणपत्रीय

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vandana Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप