वाराणसी : शहर में सीवर सफाई का ठेका एक मई से होने के बाद भी सभी वार्डो में सफाई शुरू नहीं हो सकी। इसके चलते शहर में सीवर सफाई व्यवस्था चरमरा गई है। लाइनें जाम होने से गंदा पानी सड़कों पर बह रहा है। वार्डो में सीवर सफाई का काम कब शुरू होगा, इसको लेकर कोई भी जिम्मेदार अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। जल्द सीवर सफाई की व्यवस्था नहीं की गई तो शहर की सड़कों पर निकलना मुश्किल हो जाएगा, इससे शहरवासियों में आक्रोश है।

सीवर सफाई का जिम्मा पहले जलकल संस्थान के पास था। शासन ने एक मई से शहर में सीवर सफाई का ठेका गुडगांव की एक कंपनी को दिया है। शहर के सभी 90 वार्डो में तीन-तीन सीवर सफाई कर्मियों की तैनाती करने का आदेश है लेकिन कंपनी की लापरवाही के चलते 12 दिन बीतने के बाद भी काम शुरू नहीं हो सका। नगर निगम और जलकल कार्यालय में रोज दर्जनों शिकायतें आ रही हैं।

--

सीवर सफाई कर्मियों की तैनाती नहीं होने से वार्ड में सीवर जाम होने के साथ गंदा पानी सड़कों और गालियों में फैला है। कब सफाई कर्मी मिलेंगे मालूम नहीं।

-गीता विश्वकर्मा, पार्षद नवाबगंज

--

एक मई से सीवर सफाई का ठेका होने से पुराने सफाई कर्मी आना बंद कर दिए। कंपनी के कर्मचारी नहीं आ रहे हैं, इसके चलते सीवर जाम है।

-पूनम विश्वकर्मा, पार्षद राजाबाजार

--

जिन वार्डो में सीवर सफाई कर्मियों की तैनाती नहीं की गई, वहां कंपनी के पैसे की कटौती की जाएगी। जलकल महाप्रबंधक से रिपोर्ट मांगी जाएगी जिससे आगे की कार्रवाई की जा सके। कई पार्षदों ने वार्डों में सफाई कर्मियों की तैनाती नहीं होने की शिकायत की है।

-मृदुला जायसवाल, महापौर

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप