वाराणसी : एससी व एसटी वर्ग के छात्रों की शुल्क माफी पूर्व की भांति लागू करवाने, शुल्क माफी के लिए वार्षिक आय दो लाख रुपये की सीमा को समाप्त करने व सभी छात्राओं को निश्शुल्क शिक्षा की मांग को लेकर काशी हिंदू विश्विद्यालय के छात्रों ने गुरुवार को कुलपति कार्यालय का घेराव किया। केंद्रीय कार्यालय के मुख्य गेट पर विद्यार्थियों ने जमकर प्रदर्शन किया। इसके बाद दर्जनों छात्रों की कुलपति के साथ करीब एक घंटे तक बैठक भी हुई, लेकिन कोई हल नहीं निकला। छात्रों ने चेतावनी दी है कि अगर मांगें नहीं मानी गई तो बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

छात्रों ने बताया कि जो छात्र अभी पास आउट हो रहे है उनसे फीस नहीं मागी जाएगी बल्कि उन्हें अपना डिटेल देना होगा। छात्रों के अनुसार प्रशासन ने यह भी आश्वासन दिया है कि जो नए छात्र आएंगे उनके लिए भी यह व्यवस्था होगी कि वे पहले से ही यह लिखकर देंगे कि वे खुद फीस प्रतिपूर्ति नही लेंगे। यह भी कहा गया है कि छात्र केवल स्कॉलरशिप क्लेम करेंगे। उधर, छात्रों की समस्या को लेकर कुलपति प्रो. राकेश भटनागर ने समिति कक्ष एक में बैठक की। इसमें रजिस्ट्रार एवं चीफ प्राक्टर भी मौजूद थीं। इससे पहले चैनल गेट पर छात्रों को रोक दिया गया था। इसे लेकर अधिकारियों एवं सुरक्षाकर्मियों से नोकझोंक तक की नौबत आ गई थी। छात्रों का कहना था कि आंदोलित सभी छात्र कुलपति से मिलेंगे, जबकि प्रशासन का कहना था कि कुछ छात्र चलकर मिल सकते हैं। खैर, कुलपति के केंद्रीय कार्यालय पहुंचने पर मामला शांत हो गया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप