वाराणसी : विरोध के बावजूद संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय में अध्यापकों की नियुक्ति प्रक्रिया जारी है। इस क्रम में 24 अक्टूबर से साक्षात्कार के लिए अभ्यर्थियों को कॉल लेटर भी भेज दिए गए हैं। कुलपति प्रो. यदुनाथ दुबे ने नियुक्ति पर रोक लगाने से स्पष्ट इंकार कर दिया है।

उधर, अध्यापकों का कहना है कि की नियुक्ति को लेकर राजभवन ने फिर पत्र जारी किया है। इसमें सभी विश्वविद्यालयों से यूजीसी की विनियमावली के तहत ही अध्यापकों की नियुक्ति का निर्देश दिया गया है। वहीं संस्कृत विश्वविद्यालय में यूजीसी के नए नियम के तहत परिनियम में संशोधन नहीं किए गए हैं। इतना ही नहीं पुराने विज्ञापन के आधार पर ही नियुक्ति की जा रहीं है। हालांकि नियमानुसार छह माह से अधिक समय बीतने के बाद दोबारा विज्ञापन जारी करना होता है। कुलपति ने स्वीकार किया कि राजभवन से परिपत्र फिर आया है। उन्होंने कहा कि नियमानुसार ही नियुक्ति की जा रही है। यूजीसी के नियमों का पूरा पालन किया जा रहा है। ऐसे में नियुक्ति प्रक्रिया पर रोक नहीं लगाई जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप