वाराणसी : सपा ने हल्ला बोल-पोल खोल अभियान के तहत दु‌र्व्यवस्था को लेकर सोमवार को मंडलीय अस्पताल में प्रदर्शन करने के साथ धरना दिया। अस्पताल में दु‌र्व्यवस्था, लापरवाही और मरीजों के शोषण के खिलाफ जमकर नारे लगाए। केंद्र व प्रदेश सरकार को जन स्वास्थ्य के मुद्दे पर घेरा। सपा पिछड़ा सभा प्रकोष्ठ के तत्वावधान में जुटे जिला और महानगर इकाई के पदाधिकारियों-कार्यकर्ताओं ने समस्याएं दूर करने के लिए डीएम व सीएमओ के नाम 17 सूत्रीय मांगपत्र समेत ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपा। सपा के जिलाध्यक्ष डा. पीयूष यादव ने कहा कि मंडल के सबसे बड़े अस्पताल में गरीब व पिछड़े क्षेत्र की जनता इलाज के लिए आती है, लेकिन समुचित परामर्श, दवा व जांच की बजाय उन्हें दलालों के हाथ शोषण के लिए छोड़ दिया गया है। यहां की व्यवस्था ठीक नहीं होने से मरीजों को दर-दर की ठोकरें खानी पड़ रही हैं। अध्यक्षता करते हुए महानगर अध्यक्ष राजकुमार जायसवाल ने कहाकि जन स्वास्थ्य के प्रति सजग रही पूर्ववर्ती सपा सरकार ने उच्चस्तरीय सेवा के लिहाज से मंडलीय अस्पताल को आधुनिक मशीनों, प्रचुर मात्रा में दवा व अन्य सुविधाओं से लैस किया था। अब भाजपा सरकार की अनदेखी और प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक की लापरवाही के चलते अस्पताल बीमार और जीर्ण-शीर्ण अवस्था में है। जनहित में तत्काल इन सब समस्याओं का निदान नहीं हुआ तो सपा शातिपूर्वक धरना-प्रदर्शन छोड़ कर उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होगी। उपाध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी, पूर्व महानगर अध्यक्ष पारसनाथ जायसवाल, प्रदेश सचिव बीपी सिंह, राजू यादव व प्रदीप जायसवाल, डा. आनंद प्रकाश तिवारी, संजय मिश्रा, मो. इस्तकबाल कुरैशी, पूजा यादव, शुभागी भारत, प्रिया अग्रवाल, पूर्व विधायक अब्दुल समद अंसारी, दीपचंद गुप्ता आदि ने विचार व्यक्त किए। संयोजन पिछड़ा सभा महानगर अध्यक्ष विष्णु शर्मा, संचालन महानगर महासचिव जितेंद्र यादव व धन्यवाद ज्ञापन जिला महासचिव डा. रमेश राजभर ने किया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप