वाराणसी, जेएनएन। महिला खिलाड़ी के संग दुर्व्‍यवहार के मामले को महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ ने गंभीरता से लिया है। इस मामले में चीफ प्रॉक्टर ने चीफ वार्डेन से बवाल करने वाले छात्रों की सूची मांगी है। दूसरी ओर हंगामा व तोडफ़ोड़ करने वाले छात्रों को सीसी टीवी कैमरे के फुटेज से चिन्हित किया जा रहा है ताकि उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा सके। करीब एक दर्जन छात्र कार्रवाई के जद में हैं।

छात्रों पर पांच जनवरी को परिसर में पूर्वी अंतर विश्वविद्यालय हैंडबॉल के दौरान महिला खिलाड़ी पर फब्तियां कसने का आरोप है। वहीं रोकने पर छात्रों में दो गुटों में जमकर मारपीट हो गई। छात्रों के एक गुट ने जमकर तोडफ़ोड़ भी की। करीब आधा दर्जन कुर्सियां तोड़ दी। इसके बाद पुलिस आचार्य नरेंद्र देव छात्रावास में घुस छात्रों की जमकर पिटाई की। यही नहीं एक नामजद सहित 20 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया। मारपीट के आरोप में चार छात्रों को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया। इस घटना से विद्यापीठ की बदनामी हुई। चीफ प्रॉक्टर प्रो. चतुर्भुज नाथ तिवारी स्वत: संज्ञान में लेते हुए इस मामले में चीफ वार्डेन से रिपोर्ट तलब की है। उन्होंने उपद्रवी छात्रों को चिन्हित कर तत्काल छात्रावास से बाहर करने का भी सुझाव दिया है ताकि इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति न हो सके। रविवार की घटना को देखते हुए सोमवार को बड़ी संख्या में परिसर में पुलिस फोर्स तैनात थी।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस