वाराणसी, जागरण संवाददाता। जर्मनी से आयातित एक हाथ की कीमत आज के समय में लगभग दो लाख पये है। ऐसे में निर्धन वर्ग के लोगो के लिए भारत विकास परिषद वरूणा सेवा संस्थान ट्रस्ट द्वारा निशुल्क रोबोटिक हाथ का प्रत्र्यापण एक सराहनिय कार्य है। दिव्यांगो के जीवन में आत्मविश्वास एवं जीवन के प्रति सकारात्मक सोच पैदा करने वाला है। पदमश्री विमल जैन ने शुक्रवार को मछोदरी स्थित राजा बलदेव दास बिडला अस्पताल में दिव्यांगो को निशुल्क रोबोटिक हाथ के प्रत्र्यापण के अवसर पर कहा।

विषय को विस्तार देते हुए भारत विकास परिषद के राष्ट्रीय संगठन मंत्री सुरेश जैन ने कहा कि इस तीन दिवसीय शिविर में अभी तक अस्सी दिव्यांगों को रोबोटिक हाथ लगाने के लिए आवेदन आए है। प्रतिदिन पच्चीस की संख्या में हाथ लगाये जायेंगे। इनाली फाउंडेशन द्वारा अबतक भारत में पच्चीस सौ से अधिक हाथ लगाए जा चुके है। यहाॅ पूर्वाच्चल एवं बिहार के चयनित लाभार्थियों को निशुल्क हाथ लगाए जायेंगे।

इनाली फाउंडेशन के निदेशक प्रशांत गाढे ने बताया कि इंफोसिस की निदेशक सुधामूर्ति ने इस कार्य में अपना आर्थिक सहयोग दिया। जिसके फलस्वरूप् मात्र दस बारह हजार में ये रोबोटिक हाथ तैयार कर लिए गये।

ट्रस्ट के संस्थापक चेयरमैन रमेश लालवानी ने अतिथियो का स्वागत किया और ट्रस्ट द्वारा किये जा रहे सेवा कार्यो के बारे में बताया और भविष्य में प्रस्तावित सेवा कार्यों की रूपरेखा से अवगत कराया। कार्यक्रम का संचालन सुदीप टडन एवं एवं धन्यवाद ज्ञापन डा. इंदू सिंह ने किया।

इस अवसर पर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आर बी श्रीवास्तव, मुकेश जैन, डा एम के श्रीवास्तव, विरेन्द्र कुमार सिंह, अनिल कुमार अग्रवाल,शाखा अध्यक्ष संजय गुप्ता, आलोक शिवा जी, संजय ,अनुपम सिंह,लवली श्रीवास्तव,कुमार पाठक, आनन्द कुमार पाण्डेय, पंकज कुमार सिंह, विवेक सूद, आशुतोष सिंह एवं डा. रामसुधार सिंह उपस्थित रहे।

शिव भक्तों के लिए रोडवेज बस रहेगी रिजर्व : सावन मास के मद्देनजर रोडवेज प्रशासन ने भी अपनी कमर कस ली है। बाबा भक्तों की सुविधा के लिए प्रयागराज के लिए विशेष बस चलाने की तैयारी है। आवश्कता के अनुसार अत्याधिक दबाव वाले मार्गों पर अतिरिक्त बसें चलाई जाएंगी। क्षेत्रीय प्रबंधक संतोष कुमार के अनुसार सावन मास के मद्देनजर तैयारी चल रही है। लखनऊ मुख्यालय को पत्र लिखा गया है। वाराणसी परिक्षेत्र में आवश्यकता के अनुसार गाडियां चलाई जाएंगी।

Edited By: Saurabh Chakravarty