Move to Jagran APP

Election 2024: भगवा रंग की पगड़ी पहन राकेश टिकैत ने किसानों से की अपील, जानिए लोकसभा चुनाव में किस तरफ है भाकियू?

Lok Sabha Election लोकसभा चुनाव को लेकर देश की राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है। चुनाव में जारी रैलियों के बीच भारतीय किसान यूनियन के राकेश टिकैत ने आगामी लोकसभा चुनाव में अपने समर्थन को लेकर स्थिति साफ कर दी है। राकेश टिकैत ने अपना समर्थन किसी को भी देने की बात कही है। राकेश टिकैत ने कहा कि हम आईएनडीआईए या एनडीए गठबंधन में किसी के साथ नहीं हैं।

By Jagran News Edited By: Swati Singh Thu, 11 Apr 2024 09:48 PM (IST)
Election 2024: भगवा रंग की पगड़ी पहन राकेश टिकैत ने किसानों से की अपील, जानिए लोकसभा चुनाव में किस तरफ है भाकियू?
भगवा रंग की पगड़ी पहने राकेश टिकैत ने किसानों से की बड़ी अपील

जागरण संवाददाता, वाराणसी। लोकसभा चुनाव को लेकर देश की राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है। चुनाव में जारी रैलियों के बीच भारतीय किसान यूनियन के राकेश टिकैत ने आगामी लोकसभा चुनाव में अपने समर्थन को लेकर स्थिति साफ कर दी है। राकेश टिकैत ने अपना समर्थन किसी को भी देने की बात कही है।

राकेश टिकैत ने कहा कि हम आईएनडीआईए या एनडीए गठबंधन में किसी के साथ नहीं हैं। जिस किसान को जहां इच्छा है वहां वोट दे। हमारे आंदोलन में दोनों लोग रहते हैं, जिसकी भी सरकार किसान विरोधी होगी तो किसान विरोध करेंगे।

बाबा विश्वनाथ का किया दर्शन

राकेश टिकैत ने गुरुवार को बिहार के चौसा में आंदोलनरत किसानों से भेंट करने के बाद श्री काशी विश्वनाथ धाम में दर्शन-पूजन किया। टिकैत ने इस दौरान मीडिया से कहा कि किसानों को उनका हक दिलवाकर रहूंगा।

किसानों को मजदूर बनाना चाहती है सरकार

राकेश टिकैत ने कहा कि वर्तमान सरकार देश के किसानों को मजदूर बनाना चाहती है। बिहार को तो पूरा मजदूरों का राज्य बना दिया गया है। वर्तमान सरकार ने फूट डालो के तहत कुछ किसानों को अलग करके आंदोलन चलाया। सरकार चाहती है कि किसानों का आंदोलन पंजाब में रहे ताकि सिख समुदाय बदनाम हो।

भगवा रंग सबका है

इस दौरान टिकैत भगवा रंग की पगड़ी पहने थे। इस पर सवाल पर कहा कि यह रंग सबका है। हर समाज व संत-महात्माओं का भी है। उन्होंने कहा कि चौधरी चरण सिंह को भारत सरकार ने दस वर्ष के बाद सम्मानित किया। उनके जूनियर को पहले सम्मानित किया गया।

यह भी पढ़ें: सज गया पूर्वांचल का चुनावी रण, प्रमुख दलों के प्रत्याशियों के चेहरे साफ; BSP ने कई सीटों पर अभी नहीं खोले पत्ते