वाराणसी, जागरण संवाददाता। राजा भैया ने शनिवार की सुबह वाराणसी में गंगा तट पर सुबहे बनारस का खांटी बनारसी के अंदाज में लुत्‍फ लिया और घाट पर प्रवासी परिंदों को दाना खिलाते तस्‍वीर भी इंटरनेट मीडिया पर साझा की है। वहीं तस्‍वीर साझा करने के साथ ही उन्‍होंने तस्‍वीर के कैप्‍शन में सुबह-ए-बनारस लिखकर बनारस की शानदार सुबह की झलक भी पेश की है। रघुराज प्रताप (राजा भैया) के इस सुबह ए बनारस की तस्‍वीर को लोगों ने भी इंटरनेट मीडिया में साझा कर लोगों से बनारस की खूबसूरती को नुमाया किया है। दरअसल राजा भैया इन दिनों वाराणसी में हैं और लोगों से मुलाकात भी कर रहे हैं। वह वाराणसी में रहकर पूर्वांचल में चुनावी रणनीति पर भी मंथन करने के साथ पार्टी के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से मुलाकात कर रहे हैं।

वहीं इससे पूर्व शुक्रवार को दिन में उन्‍होंने संकट मोचन मंदिर में हाजिरी लगाई और हनुमद दरबार में शीश झुकाकार आशीर्वाद मांगा। राजा भैया ने संकटमोचर मंदिर परिसर में भम्रण भी किया। प्रतापगढ़ में कुंडा के निर्दलीय विधायक रघुराज प्रताप उर्फ राजा भैया शुक्रवार को संकट मोचन दरबार में हाजिरी लगाने पहुंचे थे। वहीं इस दौरान उन्होंने बातचीत करते हुए काशी में कुछ वर्षों में हुए बदलाव की तारीफ भी की। हालांकि, इस दौरान उन्‍होंने सियासी सवालों से बरकरार दूरी बनाए रखी। रघुराज प्रताप सिंह संकट मोचन मंदिर में दर्शन पूजन के लिए पहुंचे तो उन्‍होंने वाराणसी आगमन को लेकर स्थिति स्‍पष्‍ट की और बताया कि वह वाराणसी में दर्शन पूजन के लिए आए हुए हैं।

इससे पूर्व उन्होंने पुरानी काशी और वर्तमान काशी के सवाल पर बदलाव को लेकर भी अपना नजरिया जाहिर किया। वहीं श्री काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर के अतिरिक्त यहां पर सड़कों के चौड़ीकरण और फ्लाईओवर का निर्माण भी विकास कार्यों के लिए सराहनीय प्रयास बताया। उन्होंने बताया कि उनकी पार्टी की ओर से करीब दो दर्जन प्रत्याशियों की घोषणा हो चुकी है। वहीं दूसरों दलों से तालमेल को लेकर उन्होंने इनकार किया। वहीं उन्होंने वाराणसी में अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से मुलाकात की और पूर्वांचल में चुनाव की रणनीति को लेकर से विचार विमर्श किया। 

Edited By: Abhishek Sharma