आजमगढ़, जेएनएन। पूर्वांचल की राजनीति में सक्रिय भूमिका निभाने को आतुर कांग्रेस का कार्यक्रम पल दर पल बदल रहा है। एक महीने पहले कहा गया कि न्याय पंचायत स्तर पर होने वाली बैठक में प्रियंका गांधी मौजूद हो सकती हैं, कुछ ही दिन बाद तय हुआ कि ब्लाक कमेटियों के गठन के बाद पदाधिकारियों के सम्मान समारोह में वह लाइव बातचीत करेंगी लेकिन एक बार फिर कार्यक्रम बदल गया है। 

अब वह किसी भी न्याय पंचायत के पदाधिकारियों के बीच पहुंचकर संगठन के बारे में चर्चा करने वाली हैं। हालांकि अभी तारीख तय नहीं है लेकिन यह तो तय है कि सिद्धार्थनगर में बैठक में शामिल होने के बाद आजमगढ़ का रुख करेंगी। अगर सबकुछ ठीक रहा तो वह जिले के कई न्याय पंचायतों के पदाधिकारियों के साथ बैठकर पार्टी के बारे में फीडबैक ले सकती हैं।

पार्टी जिलाध्यक्ष प्रवीण कुमार सिंह ने बताया कि लखनऊ से ऐसे ही संकेत मिल रहे हैं कि प्रियंगा गांधी पूर्वांचल का दौरा कर सकती हैं। इस बार उनका पूरा फोकस गांव स्तर के संगठन पर होगा। प्रियंका का मानना है कि इससे गांव स्तर के कार्यकर्ताओं की ऊर्जा बढ़ेगी जो संगठन के लिए जरूरी है। गांव स्तर के कार्यकर्ताओं का सम्मान बढ़ेगा तो वह खुद को प्रत्याशी मानकर चुनाव में जी-जान से काम करेंगे और जिस दिन जमीन का कार्यकर्ता पार्टी के लिए खड़ा हो जाएगा उस दिन कांग्रेस यूपी में पुरानी स्थिति में लौट सकती है। 

Edited By: Abhishek sharma