वाराणसी, जेएनएन। मनोविज्ञान का आशय मन के विज्ञान से है। व्यक्ति के मन में क्या चल रहा है अध्ययन मनोविज्ञान के माध्यम से किया जाता है। हाव-भाव व व्यवहार से किसी भी व्यक्ति के मन को आसानी से पढ़ा व समझा जा सकता है। मसलन, कोई व्यक्ति गुस्से में है तो उसका चेहरा देखकर आप आसानी से समझ सकते हैं। मनोविज्ञान काफी रोचक व सरल विषय होता है। रही बात इंटरमीडिएट मनोविज्ञान में अच्‍छे अंक लाने की तो इसके लिए परीक्षार्थियों को व्यवहार का दैहिक आधार व न्यूरोन अ'छी तरह समझना होगा। व्यवहार के दैहिक आधार की समझ ही परीक्षा में अ'छे अंक दिलाने में सहायक साबित होगी। यूपी बोर्ड के परीक्षार्थियों के पास अब परीक्षा की तैयारी करने का समय बहुत कम है। ऐसे में रिवीजन व अभ्यास की आवश्यकता है। 

आर्य महिला इंटर कालेज की मनोविज्ञान की प्रवक्ता कामना शुक्ला के अनुसार यूपी बोर्ड के 12वीं मनोविज्ञान के पेपर में अच्‍छे अंक हासिल करने के कुछ टिप्स इस प्रकार है।

-अब कुछ नया सीखने और समझने का समय नहीं है। ऐसे में महत्वपूर्ण चैप्टर का अभ्यास करें।

-अंकों के आधार पर पाठ्यक्रमों का विभाजन व अध्ययन करें। 

-मनोविज्ञन में व्यवहार का दैहिक आधार, अधिगम भाषा एवं चिंतन सहित अन्य पाठ  महत्वपूर्ण हैं। इन पर विशेष ध्यान दें। 

- याद कर निर्धारित समय सीमा में लिखने का अभ्यास आवश्यक है। 

-पाठ्यक्रम में बहु विकल्पीय और निश्चित उत्तरी प्रश्नों का अधिक अभ्यास करें। प्रश्न घुमा-फिराकर पूछे जाते हैं। ऐसे में मॉडल पेपर से प्रश्नों की समझ विकसित करना जरूरी है। 

-मनोविज्ञान में चित्रों का अभ्यास करें। 

- मनोविज्ञान में समूह तनाव, प्राकृतिक आपदा जैसे कुछ पाठ काफी सरल है। बस एक बार ध्यान से पढ़ कर समझने की जरूरत है। 

-पर्यावरणीय मनोविज्ञान की जानकारी आम तौर पर सभी विद्यार्थियों को होती है। फिर भी रिवीजन की आवश्यकता है। 

- सिद्धांतों, परिभाषाओं व उदाहरणों को भी भली-भांति समझने की जरूरत। 

गुरुमंत्र  

- किताब-कापी जब भी उठाएं मन से पढ़ें। अभिभावकों को दिखाने के लिए नहीं वरन परीक्षा में अ'छे अंक लाने के लिए अध्ययन करें। 

 - परीक्षाएं वर्ष में एक बार देनी होती है। वहीं इंटर स्तर की परीक्षाओं के अंकों पर ही परीक्षार्थियों का भविष्य टिका रहता है। ऐसे में पूरी गंभीरता से तैयारी के साथ परीक्षा दें। 

- परीक्षा कोई हो, हल्के में नहीं लेनी चाहिए। परीक्षा के अंकों के माध्यम से ही वर्षभर के अध्ययन का आकलन होता है। ऐसे में प्रश्नों का उत्तर देते समय पहले अ'छी तरह समझ लें। इसके बाद उत्तर लिखें। 

- लगातार अध्ययन न करें। ऐसा करने से परीक्षा के दौरान भूलने की आशंका अधिक रहती है, इसलिए बीच-बीच में ब्रेक जरूरी है। 

-संगीत मन को शांति देता है, जब भी खाली रहें टीवी देखने के स्थान पर संगीत सुनें। 

कैसे-कैसे होंगे प्रश्न 

- एक-एक अंक के पांच प्रश्न बहुविकल्पीय 

-एक-एक अंक के पांच निश्चित उत्तरीय प्रश्न (एक वाक्य में)

-चार-चार अंक के छह अति लघुउत्तरीय। (लगभग 25 शब्दों में)

- छह-छह अंक के छह लघुउत्तरीय। (करीब 50 शब्दों में)

- दस-दस अंक के तीन दीर्घ  उत्तरीय प्रश्न (करीब 250 शब्द)

मॉडल पेपर : यूपी बोर्ड परीक्षा-2020

कक्षा 12 

विषय : मनोविज्ञान 

समय : 3 घंटे  पूर्णाक : 100

नोट- 1 . सभी प्रश्न करना अनिवार्य है।  

2. प्रश्न संख्या एक बहुविकल्पीय है। प्रश्न संख्या दो से छह तक निश्चित उत्तरीय (एक वाक्य) है। प्रश्न संख्या सात से 12 तक अतिलघुउत्तरीय है जिनका उत्तर लगभग 25 शब्दों में देना होगा। प्रश्न संख्या 13 से 18 तक लघुउत्तरीय है जिनका उत्तर लगभग 50 शब्दों लिखना है। प्रश्न संख्या 19 से 21 तक दीर्घ उत्तरीय है, जिनका उत्तर लगभग 250 शब्दों में लिखना है। 

3. प्रत्येक प्रश्न के लिए निर्धारित अंक उसके सम्मुख अंकित हैं।

 बहुविकल्पीय प्रश्न 

1. (क) शारीरिक संतुलन बनाए रखने के लिए मुख्य रूप से मस्तिष्क का कौन सा भाग उत्तरदायी होता है। 01

(अ) बृहद मस्तिष्क

(ब) लघु मस्तिष्क 

(स) थैलेमस 

(द) सेतु 

(ख) किसी विशिष्ट कार्य को व्यवस्थित ढंग से सीखने के बाद उससे मिलते-जुलते कार्यों को बिना अतिरिक्त

शिक्षण के सुविधापूर्वक कर लेना कहलाता है।  01

(अ) अतिरिक्त सीखना 

(ब) सीखने का स्थानांतरण 

(स) प्रयत्न व भूल द्वारा सीखना 

(द) अभ्यास द्वारा सीखना 

(ग) निम्नलिखित में कौन सा व्यक्तित्व परीक्षण है।  01

(अ) कूडर का प्राथमिकता प्रपत्र 

(ब) कैटिल का संस्कृतिमुक्त परीक्षण (स) बेलक का बालक बोध परीक्षण

(द) पिंटर-पैटरसन निष्पादन परीक्षण 

(घ) निम्नलिखित में कौन प्राथमिक भू-भाग नहीं हैं।  01

(अ) दुकान (ब) पुस्तकालय (स) खेत (द) घर 

(ड.). निम्नलिखित में कौन प्राकृतिक आपदा नहीं है- 01

(1) सूखा (2) भूखमरी या युद्ध (3) बाढ़ (4) भूकंप

निश्चित उत्तरीय प्रश्न 

2. प्रतिवर्ती क्रिया से आप क्या समझते हैं?  01

3. स्मृति की प्रक्रिया बताइए।  01

4. शारीरिक लक्षणों के आधार पर व्यक्तित्व का वर्गीकरण कीजिए।  01

5. शाब्दिक एवं अशाब्दिक परीक्षण में कोई दो अंतर बताइए।  01

6. पर्यावरण के प्रकार बताइए।   01

अतिलघु उत्तरीय प्रश्न 

7. अर्जित निस्सहायता का तात्पर्य बताइए।  04

8. स्मृति के प्रकार बताइए। 04

9. चिंतन की प्रक्रिया को सरल बनाने के उपाय बताइए। 04 

10. सामूहिक तनाव का मनोवैज्ञानिक कारण बताइए। 04

11. भीड़ किसे कहते हैं? नियंत्रण सिद्धांत का प्रतिपादन किसने किया? 04

12. प्राकृतिक आपदा किसे कहते हैं? किन्हीं दो आपदाओं के बारे में बताइए। 04

 लघु उत्तरीय प्रश्न 

13. क्यूरोन का चित्र बनाइए तथा उसकी कार्यप्रणाली का संक्षिप्त विवरण दीजिए। 06

14. प्राचीन अनुबंधन सिद्धांत अथवा सूझ सिद्धांत का संक्षिप्त वर्णन कीजिए। 06 

15. विस्मरण के कारण बताइए। 06

16. व्यक्तित्व के प्रकार बताइए। 06

17. व्यक्तिगत बुद्धि परीक्षण के बारे में संक्षिप्त वर्णन कीजिए। 06

18. मानव व्यवहार पर ताप प्रदूषण के प्रभाव की व्याख्या कीजिए। 06

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न 

19. चित्र की सहायता से मानव मस्तिष्क के भागों का वर्णन कीजिए। 10 

अथवा 

 मनोवैज्ञानिक परीक्षण से आप क्या समझते हैं? एक अच्छे मनोवैज्ञानिक परीक्षण में कौन-कौन सी विशेषताएं पाई जातीं हैं? 

20. स्मरण के मापन की विधियां बताइए। 10 

अथवा 

 'प्रक्षेपण' विधि किसे कहते हैं? प्रक्षेपण विधि कौन-कौन सी है? 10

 21. व्यक्तित्व को प्रभावित करने वाले कारक कौन- कौन से हैं? 10 

अथवा 

 सीखने में दर्पण लेखन का प्रयोग अथवा बुद्धि परीक्षण के बारे में बताइये। 

 

Posted By: Abhishek Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस