वाराणसी, जागरण संवाददाता। महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में प्रस्तावित दस दिसंबर को दीक्षा समारोह होने की संभावना है। अब विश्वविद्यालय प्रशासन दीक्षा समारोह से पहले छात्रसंघ चुनाव कराने पर विचार कर रही है । इस क्रम में चुनाव अधिकारी की तलाश शुरू कर दी गई है । इसके लिए तीन अध्यापकों से बातचीत भी किया जा रहा है I स्वीकृति मिलते ही किसी भी समय चुनाव अधिकारी की घोषणा की जा सकती है।

दरअसल छात्रनेता विश्वविद्यालय प्रशासन पर यशाशीघ्र चुनाव कराने के लिए लगातार दबाव बनाए हुए हैं । इस संबंध छात्रों का प्रतिनिधिमंडल कई बार कुलपति व चीफ प्राक्टर मिल चुका है और उन्हें पत्रक भी दिया था। वहीं चीफ प्राक्टर ने दाखिले की प्रक्रिया पूर्ण होते चुनाव अधिकारी नियुक्त होने का आश्वासन दिए थे। स्नातक व स्नातकोत्तर के विभिन्न पाठ्यक्रमों में अब दाखिला लगभग पूर्ण हो चुका है। विभिन्न पाठ्यक्रमों में कुछ पेड सीट रिक्त है। इन सीटों पर भी इसी माह में दाखिला पूर्ण होने की संभावना जताई जा रही है। ऐसे में अब चुनाव अधिकारी की नियुक्ति करने की तैयारी चल रही है। यही नहीं विश्वविद्यालय प्रशासन दिसंबर के द्वितीय सप्ताह तक छात्रसंघ चुनाव कराने पर गंभीरता से विचार कर रही है।

इसके लिए पुलिस प्रशासन से बातचीत भी शुरू कर दी गर्ग है । जिला प्रशासन की हरी झंडी मिली तो इसी माह के अंत तक अधिसूचना भी जारी कर दी जाएगी। वहीं इसकी भनक लगते ही छात्रनेताओं ने प्रचार-प्रसार तेज कर दिया है। छात्रनेताओं की सक्रियता से परिसर में चुनावी सरगर्मी बढ़ गई है। छात्रनेताओं ने विद्यापीठ के आसपास व नगर के प्रमुख चौराहों पर पोस्टर व होडिंग भी लगाना शुरू कर दी है । छात्रों में पैठ बनाने के लिए छात्रनेता क्लास-क्लास जाकर प्रचार कर रहें है। कोई हाथ जोड़ रहा है तो कोई वरिष्ठ साथियों का पैर छूकर आशीर्वाद मांग रहा है। कुलमिलाकर परिसर का माहौल अब चुनावी मूड में दिखने लगा है ।

Edited By: Abhishek Sharma