जागरण संवाददाता, वाराणसी। बिजली के नए कनेक्शन लेने या फिर अन्य कार्यों के लिए झटपट पोर्टल पर ब्योरा दर्ज करने के दौरान हुई गलती को सुधारने के लिए उपभोक्ताओं को अब मौका दिया जाएगा। पहले जांच अधिकारी पोर्टल पर दर्ज ब्योरे में गलती होने पर आवेदन रद कर देते थे। उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन ने उपभोक्ताओं की समस्या को देखते हुए ऐसा फैसला लिया है। इस सम्बंध में पावर कारपोरेशन के निदेशक (वाणिज्य) एकके श्रीवास्तव ने सभी डिस्काम के प्रबंध निदेशक (एमडी) को नया सर्कुलर जारी कर दिया है। इस पर फैसला गत 15 जुलाई को लिया गया था।

इस तरह उपभोक्ता दूर करने अपनी त्रुटि : झटपट पोर्टल पर आवेदन में गलती होने पर जांच अधिकारी आपत्ति लगाकर आवेदन उपभोक्ताओं को वापस कर देंगे। इसके साथ ही उनको सात से चौदह दिन तक सुधार के लिए मौका दिया जाएगा। उपभोक्ता झटपट पोर्टल पर अपने लॉगिन आइडी और पासवर्ड से अपनी गलती को सुधारकर पोर्टल पर सेव कर देंगे। इसके बाद उनको पुनः फर्म क्लोज करना होगा।

नहीं होगा नुकसान : पहले आवेदन के दौरान यदि कोई ब्योरा गलत दर्ज हो जाता था तो जांच अधिकारी उस आवेदन को रद कर देते थे। इसमें उपभोक्ताओं द्वारा ऑनलाइन जमा की गई सरकारी फीस विभाग के बट्टे खाते में चली जाती थी। जिस कारण उपभोक्ताओं को नुकसान उठाना पड़ता था। उसके बाद उपभोक्ताओं को नए सिरे से दोबारा आवेदन की प्रक्रिया करनी पड़ती थी। अब उसी फीस में उपभोक्ता अपनी गलती सुधारकर पुनः फार्म भर सकेंगे।

Edited By: Abhishek Sharma