जागरण संवाददाता, वाराणसी। एडीजी वाराणसी जोन व जीआरपी के पुलिसकर्मियों के लिए गतदिन एचडीएफसी बैंक के सहयोग से "वित्तीय निवेश एवं तनाव प्रबंधन" विषयक वेबिनार का आयोजन किया गया। पुलिस कर्मियों को बेहतर वित्तीय प्रबंधन के फायदे बताते हुए परिवार को सुरक्षित रखने का तरीका बताया गया।वेबिनार सत्र में मेजबानी करते हुए एचडीएफसी बैंक के सर्किल प्रमुख मनीष टंडन ने सभी विशिष्ट वक्ताओं का स्वागत किया।

सेमिनार के प्रथम सत्र को संबोधित करते हुए एडीजी वाराणसी जोन ब्रजभूषण ने कहा कि हमारे पुलिसकर्मी अपने सेवाकाल में जिन दो विषयों को से अनभिज्ञ रहते हैं वो है वित्तीय प्रबंधन और तनाव प्रबंधन। एचडीएफसी बैंक ने एक पहल की है हमारे सभी पुलिसकर्मियों के हित में। ताकि इन दो विषयों की बुनियादी और ज़रूरी नसीहतों को अमल में लाया जा सकें। वेबिनार का आयोजन दो सत्रों में विभाजित किया गया , पहले सत्र में अतिथि वक़्ता वीके शर्मा ने सभी को वित्तीय बाजार और उनसे जुड़े बुनियादी बातों को समझाया और पुलिसकर्मियों को अवगत कराया कि कब, कैसे, कहाँ और कितना निवेश करें।

वहीं दूसरे सत्र को संबोधित करते हुए डा. मीना मिश्रा ने बताया कि सकरात्मक सोच और सुव्यवस्थित जीवन शैली तनाव को नियंत्रित करने में पूर्णतया कारगर है। तनाव को दूर करने के लिए अपने प्राथमिकताओं को तय करें, फिर उन को लागू करें। आखिरी सत्र को एडीजी रेलवे पीयूष आनंद ने कहा कि इस तरह के आयोजन बहुत ही लाभकारी होते हैं, इनसे सभी कर्मियों को लाभ होगा। ब्रांच बैंकिंग हेड अखिलेश रॉय ने धन्यवाद ज्ञापित किया। साथ ही आश्वस्त किया कि एचडीएफसी बैंक सामाजिक कार्यों के लिए भी प्रतिबद्ध है और निरंतर अपना योगदान देता रहेगा। वेबिनार में वाराणसी ज़ोन के सभी जिले के आईजी, एसएसपी, एसपी, एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी अपने पुलिसकर्मियों के संग जुड़े रहे। जोन के दस जनपदों व जीआरपी में 2288 से ज्यादा स्थानों पर, हज़ारों की संख्या में पुलिसकर्मियों ने इस वेबिनार सत्र का लाभ उठाया।

Edited By: Abhishek Sharma