वाराणसी : जिले में करीब 80 हजार अभ्यर्थियों ने सोमवार को सिपाही भर्ती की परीक्षा दी। इसके लिए एक दिन पहले ही सारी तैयारिया पूरी कर ली गई थीं। गड़बड़ी की आशका पर शहर के जीआइसी केंद्र पर सोमवार की दोपहर जिलाधिकारी, एसएसपी सहित तमाम आला अधिकारी पहुंचे थे। साथ ही भारी संख्या में फोर्स भी पहुंच गई थी।

इससे पहले रविवार को डीएम योगेश्वर राम मिश्र व एसएसपी आरके भारद्वाज ने पुलिस लाइन सभागार में थानेदारों संग बैठक कर विशेष चौकसी बरतने का निर्देश दिया था। परीक्षा के नोडल अधिकारी व एसपी प्रोटोकाल विकास कुमार वैद्य बनाए गए थे। पहली पाली की परीक्षा सुबह 10 से दोपहर 12 बजे के बीच हुई। वहीं दूसरी पाली की परीक्षा शाम तीन से शाम पाच बजे के बीच परीक्षा हुई। हर शिफ्ट 40 हजार से ज्यादा अभ्यर्थी भाग लिए। अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्र पर परीक्षा से दो घटे पूर्व ही प्रवेश शुरू कर दिया गया था। सुरक्षा की दृष्टि से हर केंद्र पर 10 पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई थी। एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि परीक्षा केंद्र के अलावा सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर थाना प्रभारी व पुलिस टीम बाहर भी चक्त्रमण करती रही। ऐसे में अंदाजा लगाया जा रहा है कि आगामी दो दिनों तक पुलिस की परीक्षा में ही अधिकतर थानेदार व पुलिसकर्मी व्यस्त रहे।

वहीं परीक्षा को लेकर अभ्यर्थियों में खासा उत्साह देखा गया। भीषण गर्मी में भी अभ्यर्थी आए थे। कई अभ्यर्थियों के परिजन भी आए हुए थे। कई केंद्रों पर अभ्यर्थियों एवं उनके परिजनों को पानी के लिए भी तरसना पड़ा। वहीं ऑटो वालों ने मनमाने पैसे भी लिए। इसके कारण लोगों को काफी परेशानी झेलनी पड़ी। परीक्षा समाप्त होने पर शहर में जाम की स्थिति पैदा हो गई थी। खास कर सिगरा-फातमान रोड पर। जाम को कंट्रोल करने के लिए ट्रैफिक पुलिस को भी काफी मशक्कत करनी पड़ी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस