वाराणसी, जेएनएन। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के निर्देश पर 15 नवंबर तक चलने वाले आंदोलन के क्रम में शुक्रवार को कांग्रेसजनों ने नोटबंदी पर हमला बोला। इसे काला आदेश बताते हुए तीन वर्ष पूर्ण होने पर संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय गेट पर कांग्रेसजनों ने केंद्र सरकार की शव यात्रा निकाली। इस दौरान पुलिस प्रशासन  केसाथ नोकझोंक हुई। वहीं बीएचयू गेट व इग्लिशिया लाइन स्थित पं. कमलापति त्रिपाठी की प्रतिमा के समक्ष नुक्कड़ नाटक का भी आयोजन किया गया।

महानगर भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन द्वारा नोटबंदी के काले तीन वर्ष पूर्ण होने पर केंद्र सरकार की शव यात्रा निकाली गई। संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय से निकालते वक्त पुलिस प्रशासन से जमकर झीना-झपटी, झड़प व संघर्ष हुआ। इसके बाद कार्यकर्ता धरने पर बैठ गए। राष्ट्रीय सचिव व प्रदेश प्रभारी एनएसयूआइ नावेद खान, प्रदेश अध्यक्ष एनएसयूआइ अभिषेक चौबे, प्रदेश उपाध्यक्ष एनएसयूआइ प्रविश मिश्रा बेटू आदि उपस्थिति थे। संयोजन महानगर अध्यक्ष एनएसयूआइ रंजीत तिवारी व संचालन छात्र नेता साकेत शुक्ला ने किया। भाजपा सरकार ने जनता से वादा किया था सबका साथ, सबका विकास का, लेकिन हासिल हुआ सबका विनाश और केवल भाजपा का विकास। यह बातें लंका मालवीय चौराहे पर यूथ कांग्रेस की तरफ से नुक्कड़ सभा में वक्ताओं ने कही। नुक्कड़ सभा का संयोजन ओमशंकर शुक्ल और धीरज सोनकर ने किया। इस मौके पर मणिंद्र मिश्रा, हरीश मिश्रा, विक्रांत सिंह, अनूप श्रमिक, प्रिंस राय आदि मौजूद थे। धन्यवाद ज्ञापन गौरव कपूर ने किया। युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने इंग्लिशिया लाइन स्थित पं. कमलापति त्रिपाठी की प्रतिमा के समक्ष नुक्कड़ नाटक में केंद्र सरकार को कटघरे में खड़ा किया। अध्यक्षता जिलाध्यक्ष युवा कांग्रेस विश्वनाथ कुंवर ने की। उन्होंने केंद्र सरकार के आर्थिक मॉडल पर सवाल उठाए। ओम प्रकाश ओझा, राकेश चंद, विकास सिंह, मनीष चौबे, नवीन चौबे आदि शामिल हुए।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस