वाराणसी, जागरण संवाददाता। अक्षय पात्र के लोकार्पण के बाद गुरुवार को धरसौना प्राथमिक स्कूल के छात्र ध्रुव तिवारी से शिव तांडव सुन प्रधानमंत्री नरेंन्द्र मोदी मुदित हो उठे तो चोलापुर के चंद्रावती स्कूल के सुहैल का पंजाबी ढोल की थाप खूब भाया। आने के पहले तक असहज माहौल को कैसे सरल और सहज बनाया जा सकता है इसे प्रधानमंत्री ने अपने अंदाज से बताया। अपने बीच प्रधानमंत्री को इस तरह पाकर बच्चों की खुशी का ठिकाना न रहा।

एलटी कालेज परिसर में अक्षयपात्र किचन का लोकर्पण पीएम मोदी ने किया। यहां उन्होंने सरकारी स्कूलों के 20 छात्रों से बातचीत किया। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी बच्‍चों के आत्‍मविश्‍वास के कायल हो गए। इस दौराने पीएम को बच्‍चों संस्‍कृत के श्‍लोक सुनाया। इसके बाद पीएम ने बच्‍चों से खान-पान के साथ ही स्‍कूल जाने की चर्चा की।

अक्षय पात्र फाउंडेशन की नई रसोई के उद्घाटन के ठीक पहले बच्चों को जेहन में तरह-तरह के सवाल थे, लेकिन प्रधानमंत्री ने पहुंचते ही सबको अपने पास बुलाया और कहा कि मैं सबसे सुनुंगा। आप सभी बताइए कि मुझे क्या सुनाएंगे। फिर जब बच्चे शुरू हुए तो एक-एक कर सबने कुछ न कुछ सुनाया। प्रधानमंत्री ने भी बच्चों को भरपूर समय दिया।

अक्षय पात्र फाउंडेशन की ओर से अर्दली बाजार के एलटी कालेज परिसर में स्थापित देश की 62वीं व प्रदेश की इस चौथी केंद्रीयकृत मध्याह्न भोजन रसोई के उद्घाटन अवसर पर प्रधानमंत्री के समक्ष प्राथमिक विद्यालय नहवानीपुर, सेवापूरी के छात्र अंश यादव ने विश्व के देशों के नाम व उनके राजधानी का नाम, कन्या विद्यालय उकथि चिरईगांव की छात्रा सना परवीन ने महिषासुर मर्दिनी गीत, प्राथमिक विद्यालय चंद्रावती चोलापुर के छात्र सुहेल ने ढोल ड्रम हारमोनियम वाद्य यंत्र, प्राथमिक विद्यालय धरसौना चोलापुर के छात्र ध्रुव तिवारी ने शिव तांडव स्त्रोत, प्राथमिक विद्यालय भिटकुरी सेवापुरी के छात्र प्रतीक सिंह ने एशिया के देश व राजधानी, कन्या विद्यालय गैरहा सेवापुरी की छात्रा रूबी सिंह ने मेंडलीफ आवर्त सारणी के सभी तत्वों के नाम, कन्या विद्यालय बड़ागांव की छात्रा अर्चना सिंह ने प्रधानमंत्री जी पर कविता, कन्या विद्यालय हरहुआ की छात्रा आयुषी पाल ने शिव तांडव स्त्रोत, कन्या विद्यालय रमईपट्टी पिंडरा के छात्र शिवम ने योगा, कन्या विद्यालय अनंतपुर काशी विद्यापीठ की छात्रा तमन्ना पांडेय ने प्रधानमंत्री जी के बारे में, प्राथमिक विद्यालय मुगवार आराजीलाइस की छात्रा साक्षी यादव ने हिंदी, अंग्रेजी व संस्कृत में कविता, कन्या विद्यालय ढंडोरपूर अराजीलाइस की छात्रा आयुषी पटेल ने प्रधानमंत्री जी के बारे में अंग्रेजी में स्पीच, प्राथमिक विद्यालय मंडुवाडीह काशीविद्यापीठ की छात्रा जानवी पटेल ने प्रकृति पर कविता, कन्या विद्यालय गैरहा की छात्रा अंजेश पटेल ने सामान्य अध्ययन, कन्या माध्यमिक विद्यालय जंसा अराजीलाइन की छात्रा पलक सिंह ने विज्ञान एवं अंग्रेजी, कन्या विद्यालय दनियालपुर हरहुआ की छात्रा उपासना ने गणित, प्राथमिक विद्यालय फूलपुर के छात्र कृष्णा मौर्या ने प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री जी के बारे में, प्राथमिक विद्यालय चंद्रावती चोलापुर के छात्र फलक नाज ने गीत गायन तथा कन्या विद्यालय गुड़िया सेवापुरी की छात्रा आराधना बिंद ने गणित, विज्ञान, अंग्रेजी व सामान्य ज्ञान की प्रस्तुति की। जिस पर प्रसन्न हो प्रधानमंत्री ने बच्चों की प्रशंसा करते हुए उन्हें आशीर्वाद दिया।

हमें भी सिखाओगे

चोलापुर के चंद्रावती स्कूल के कक्षा चार के छात्र सुहैल ने जब पंजाबी ढोल पर लकड़ी फेरी तो फिर प्रधानमंत्री खुद को रोक न सके और सुहैल से सवाल किया कि क्या मुझे भी सिखाओगी। सुहैल ने जब यह कहा कि आप को तो आता है तो वहां ठहाके गूंज उठे। इसी स्कूल की कक्षा चार की पलकनाज ने संस्कृति में नाम व कविता सुनाया तो वह इसी में डूब गए। प्राथमिक विद्यालय मड़ुवाडीह की छात्रा जान्हवी पटेल से कविता सुन मोदी सिर पर हाथ फेरकर हौंसला बढ़ाया।

छाया रहा प्रधानमंत्री का खुमार

प्रधानमंत्री के जाने के बाद भी उनकी खुमारी बच्चों के सिर चढ़कर बोल रही थी। न किसी को खाने की सुध, न घर जाने की परवाह। सब बस एक ही बात प्रधानमंत्री ने मुझसे यह, वह पूछा। शिक्षक कड़ी मशक्कत के बाद उन्हें बैठाकर खाना खिलवाए।

12 सौ लोगों के लिए बनी थी रसोई

अक्षय पात्र में पहले दिन 12 सौ लोगों के लिए रसोई बनी थी। बुधवार की देर रात मीनू के आधार पर बनने वाली रोटी-दाल को यह कहते हुए बदल दिया गया था कि यह स्कूल में खाना तो जाना नहीं है। आगे से इसमें मीनू के आधार पर भोजन बनेगा।

देश में अक्षय पात्र की 62वीं और उत्तर प्रदेश राज्य में पांचवीं रसोई है। यह फाउंडेशन को प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण (पीएम पोषण) पूर्व में मध्याह्न भोजन (एमडीएम) योजना के माध्यम से 100,000 से अधिक बच्चों के जीवन को सकारात्मक रूप से प्रभावित करने में सक्षम बनाएगा। उद्घाटन कार्यक्रम के बाद पीएम मोदी ने रसोई का भ्रमण कराया गया और बच्चों को प्रतीकात्मक भोजन परोसा गया। उपस्थित गणमान्य व्यक्तियों ने फीडिंग प्रोग्राम के माध्यम से देश में भूख और कुपोषण को दूर करने के अक्षय पात्र के प्रयासों की खुलकर सराहना की और संगठन के प्रयासों को अपना समर्थन देने का वचन दिया।

Edited By: Saurabh Chakravarty