गाजीपुर, जेएनएन। प्रख्यात रामकथा वाचक मोरारी बापू ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के पंच परमेश्वर ने राम मंदिर पर जो फैसला दिया वह सही और स्वागत योग्य है। विवादित स्थल पर भव्य राम मंदिर का निर्माण होने पर सभी तरह के संशय मिट जाएंगे। मैंने मानस पीठ से ही राम मंदिर फैसले पर सहमति जताई थी। यह राम का काम है सभी लोग मिलकर करें। वह शुक्रवार को वाराणसी से बक्सर जाते समय पीथापुर में अपने शिष्य आनंदकुमार के मंदिर पर पहुंचे थे।

उन्हाेंने मंदिर में शिव का अभिषेक और दंडवत प्रणाम संग आराधना की। भक्तों की भारी भीड़ के बीच बापू ने सभी से संवाद किया। गाजीपुर पहुंचने पर जगह-जगह अनुयायियों ने उनका स्वागत किया। बक्सर जाते समय उन्होंने जनमानस को संदेश दिया कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए देश में रहने वाले हर नागरिक को सहयोग करना चाहिए। उन्होंने कहा देश की सबसे बड़ी अदालत के पांच मंडलेश्वरों ने यह फैसला दिया है और सर्व मान्य है। लोकहित के फैसलों का सभी जगहों पर स्वागत और वंदन होना चाहिए।

वहीं मुस्लिम पक्ष की ओर से सुप्रीम कोर्ट में फैसले के खिलाफ रिव्यू पिटीशन पर मुरारी बापू ने कहा कि यह क्या होता है, ऐसे मामले में इन सब चीजों पर कोई चर्चा की जरूरत नहीं। अब देश ने फैसला स्वीकार कर लिया है तो कार्य आगे बढ़ना चाहिए। इस दौरान पुलिस अधीक्षक डॉ. अरविंद चतुर्वेदी भी सपरिवार पहुंचे और मुरारी बापू का आशीर्वाद लिया।

Posted By: Abhishek Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस