वाराणसी, जागरण संवाददाता। पूर्वांचल में मौसम का रुख लगातार बदलाव की ओर होने के बीच मंगलवार से बारिश की सूरत बनने की मौसम विभाग ने उम्‍मीद जताई है। इस लिहाज से आने वाले दिनों में मौसम का रुख बदला तो बूंदाबांदी के साथ ही बारिश भी हो सकती है। बंगाल की खाड़ी से पर्याप्‍त नमी की आमद पूर्वांचल में हो रही है। नमी की सक्रियता के साथ ही पूर्वांचल में आने वाले दिनों में मानसून भी सक्रिय होने जा रहा है और बारिश की वजह से लोगों को पर्याप्‍त राहत भी मिलनी तय है। इस लिहाज से यह सप्‍ताह मौसम के लिहाज से राहत देने वाला साबित होने जा रहा है।  

बीते चौबीस घंटों में अधिकतम तापमान 39.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से तीन डिग्री अधिक रहा। न्‍यूनतम तापमान 29.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से दो डिग्री अधिक दर्ज किया गया। आर्द्रता अधिकतम 66 फीसद और न्‍यूनतम 57 फीसद दर्ज की गई। मौसम विभाग की ओर से जारी सैटेलाइट तस्‍वीरों के अनुसार पूर्वांचल और आसपास बादलों की सक्रियता का रुख बना हुआ है। बादलों की आवाजाही के बीच मानसूनी सक्रियता की आहट भी नजर आने लगी है। मौसम विभाग ने इस पूरे सप्‍ताह बादलों की आवाजाही का संकेत दिया है।

मौसम विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार इस पूरे सप्‍ताह बादलों की आवाजाही का रुख बना रह सकता है। आने वाले कुछ घंटों में मानसूनी हालात में बदलाव आया तो बूंदाबांदी का दौर लंबा चल सकता है। हालांकि, अगले तीन दिनों तक मौसम विभाग ने बारिश की संभावना जताई है। इस लिहाज से आने वाले कुछ दिनों में तापमान में कमी भी दर्ज की जा सकती है। मानसूनी सक्रियता के बीच सप्‍ताह के आखिर में मौसम का रुख बदलने के साथ कम होते तापमान के बीच नमी का मेल हुआ तो बारिश और धूप होने पर उमस का दौर भी खूब होगा। 

Edited By: Abhishek Sharma