वाराणसी, जेएनएन। आपदा को अवसर में बदलने वाले दवा और खाद्य सामग्री के दुकानदारों पर वाणिज्यकर विभाग अपनी पैनी नजर गड़ाए है। सूत्रों के मुताबिक महामारी में मुनाफाखोरी और कालाबाजारी करने वाले दुकानदारों की सूची विभाग तैयार कर रहा है। महामारी से निबटने के बाद विभाग ऐसे दुकानदारों पर कार्रवाई करेगा। चेतगंज स्थित वाणिज्यकर विभाग में इस समय 60 फीसद कर्मचारी और अधिकारी कोरोना संक्रमण के जद में हैं। फिर भी जिला प्रशासन द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबर 9454405426 पर मुनाफाखोरी और कालाबाजारी की आ रही शिकायतों की विभाग प्रतिदिन जांच-पड़ताल कर रहा है।

बनाई गई हैं दो टीमें

जिला प्रशासन द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबर पर प्रतिदिन आने वाली शिकायतों की जांच के लिए दो टीम बनाई गई है। एक टीम का नेतृत्व आयकर विभाग के गिरेन्द्र प्रताप सिंह (आईआरएस) तो दूसरे टीम का नेतृत्व आदित्य लंगेह (आईएएस) कर रहे हैं। जांच टीम में शामिल वाणिज्यकर विभाग एसआइबी के अपर आयुक्त मिथिलेश कुमार शुक्ला ने बताया कि हेल्पलाइन नंबर पर प्रतिदिन आ रही शिकायतों की जांच के लिए टीम दुकानों पर पहुंच रही है। पूछताछ करके कड़ी चेतावनी दे रही है। ऐसे दुकानदारों का नाम, पता और मोबाइल नंबर दर्ज किया जा रहा है।

दिनभर आई शिकायतों की शाम को होती है जांच

हेल्पलाइन नंबर पर आई शिकायतों की जांच प्रतिदिन शाम तक करके अगले दिन सुबह जिला प्रशासन को भेज दिया जाता है। हालांकि अभी अधिकारियों की ओर से केवल लंका स्थित श्रीकृष्ण मेडिकल स्टोर के खिलाफ ही कार्रवाई हुई है। अन्य दुकानदारों के खिलाफ शिकायत मिलने पर उन्हें चेतावनी देने के बाद भी टीम के अधिकारी ऐसे दुकानदारों पर बराबर नजर रखे हुए हैं।

औसतन 10 शिकायत प्रतिदिन हो रहे दर्ज

मुनाफाखोरी और कालाबाज़ारी के खिलाफ हेल्पलाइन नंबर पर औसतन 10 शिकायतें प्रतिदिन आ रही हैं। जिनका ब्योरा शिकायत रजिस्टर में दर्ज किया जा रहा है।

जिन दुकानदारों के खिलाफ मुनाफाखोरी और कालाबाजारी करने की शिकायतें मिल रही हैं

जिन दुकानदारों के खिलाफ मुनाफाखोरी और कालाबाजारी करने की शिकायतें मिल रही हैं, उनको अभी केवल चेतावनी देकर छोड़ दिया जा रहा है। उसके बाद भी जांच टीम के सदस्य ऐसे दुकानदारों पर नजर रखे हुए हैं। महामारी के बाद सरकार के निर्देश पर ऐसे दुकानदारों के खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है।

- मिथिलेश कुमार शुक्ला, अपर आयुक्त एसआइबी