मऊ, जागरण संवाददाता। पुराने डबल मर्डर के मामले में मुख्तार अंसारी की मऊ कोर्ट में वीडियो कान्फ्रेंसिग से सोमवार को पेशी हुई। इस मामले में सुनवाई की जानकारी होने के बाद परिसर में काफी गहमागहमी बनी रही। वहीं मुख्‍तार मामले की सुनवाई की जानकारी होने के बाद परिसर में मुख्‍तार समर्थकों की भी सक्रियता बनी रही। पूर्व में लखनऊ में मुख्‍तार की पेशी के दौरान परिजनों की ओर से सुरक्षा को लेकर सवाल भी खड़ा हो चुका है। ऐसे में भले ही सुनवाई आनलाइन हो रही हो लेकिन परिजनों की ओर से पेशी के दौरान मौजूदगी को लेकर सक्रियता रही। 

मऊ में सदर विधायक व पुत्र अब्‍बास की ओर से उनको जेल में परेशान करने की जानकारी भी साझा की जा चुकी है। ऐसे में मऊ में वीडियो कांफ्रेंसिंग से पेशी को लेकर भी प्रशासन की ओर से सक्रियता का दौर बना रहा। अपर जनपद एवं सत्र न्यायाधीश कोर्ट नं 3/ एम पी एम एल ए की विशेष कोर्ट दिनेश चौरसिया ने सदर विधायक मुख्तार अंसारी की विडियो कांन्फ्रेसिग के माध्यम से थाना दक्षिण टोला के राम सिह मौर्या व सिपाही सतीश कुमार दोहरे हत्याकाण्ड से सम्बन्धित मामले में वीडियो कान्फ्रेंसिंग द्वारा बांदा जेल से पेशी हुई।

न्यायालय ने इस मामले में अगली पेशी बहस हेतु 18 अप्रैल की तारीख नियत कर दी। सदर विधायक के अधिवक्ता दारोगा सिह ने बताया कि मुख्तार अंसारी की पेशी विडियो कान्फ्रेसिग से 2.30 बजे करायी गयी । बांदा जेल अधीक्षक ने वीडियो कान्फ्रेसिग से लिंक होने पर सदर विधायक मुख्तार अंसारी को पेश किया। ज्ञातव्‍य है कि 12 वर्ष पूर्व ठीकेदार मन्ना सिह दोहरे हत्याकाणड के चश्मदीद गवाह रामसिह मौर्या व उनके गनर सिपाही सतीश कुमार की दक्षिण टोला थाना क्षेत्र मे स्थित पुराने आरटीओ आफिस के सामने गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी। इस मामले में सदर विधायक मुख्तार अंसारी सहित दर्जन भर लोगों को आरोपी बनाया गया था।

Edited By: Abhishek Sharma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट