वाराणसी, जेएनएन। मरियम के आंगन में न सिर्फ इफ्तार की दस्तरख्वान सजी, बल्कि रोजेदारों ने नमाज भी अदा की। मौका था शनिवार को बिशप यूजीन जोसफ की ओर से आयोजित सामूहिक रोजा इफ्तार का, जिसमें रोजेदारों संग अन्य धर्मावलंबियों ने शिरकत की। बिशप हाउस परिसर में शाम होते ही नजारा ही बदल गया। गार्डेन में चादरें बिछा कर रोजेदारों के लिए बेहद करीने से दस्तरख्वान सजाए जा रहे थे। बिशप यूजीन जोसेफ के साथ ही अन्य इसाई धर्मगुरु बेहद गर्मजोशी से रोजेदारों का इस्तकबाल करते नजर आए। गंगा-जमुनी तहजीब को मजबूती देते हुए रोजेदारों संग अन्य धर्मवालंबी भी इफ्तार में शिरकत करने पहुंचे। तय वक्त पर अजान होते ही खजूर व शरबत से रोजेदारों ने अपना रोजा खोला। इसके बाद एक से बढ़कर एक लजीज व्यंजन का सभी ने लुत्फ लिया। इसके बाद मुफ्ती ए शहर मौलाना अब्दुल बातिन की इमामत में मगरिब की नमाज बिशप हाउस परिसर में ही अदा की गई। नमाज के बाद मुल्क की तरक्की, खुशहाली व अमनो-आमान की दुआएं मांगी गई। इस अवसर पर हाफिज नसीम अहमद बशीरी, मौलाना अब्दुल आखिर नोमानी, फादर चंद्रकांत, फादर विजय शांतिराज, भाई धरमवीर सिंह, डा. संतोष मिश्र, डा. जीपी राय, मुफ्ती शमीम अहमद, डा. मोहम्मद आरिफ, सैयद फरमान हैदर, डा. एहतेशामुल हक, नोमान हसन खान आदि थे। --------------- यकजहती का पैगाम देता है रोजा इफ्तार : मौलाना नक्शबंदी जासं, वाराणसी : इफ्तार के दस्तरख्वान पर रोजेदारों संग हमारे ¨हदू भाई भी अजान होने का इंतजार करते हैं, तो बहुत खुशी होती है। दावते इफ्तार समाज को यकजहती का पैगाम देती हैं। यह बातें पितरकुंडा में शनिवार को आयोजित दावते इफ्तार में मौलाना हारून रशीद नक्शबंदी ने कही। बताया आपसी सौहा‌र्द्र व प्रेम का ही असर है कि हमारे कई ¨हदू भाई रोजेदारों के लिए दावते इफ्तार का आयोजन करते है। इफ्तार के बाद मौलाना हारून रशीद नक्शबंदी की इमामत में मगरिब की नमाज अदा की गई। वहीं रोजेदारों ने नमाज के बाद मुल्क व मिल्लत के लिए दुआएं मांगी। इस अवसर पर सैयद मोहम्मद अब्दुल वदूद, डा. जावेद इकबाल, डा. मोहम्मद फारूक, नूरुल हसन अंसारी, मोहम्मद खालिद, अनीस आजमी, अशफाक अहमद डब्लू, सैयद शीबान आदि थे। उधर, अंधरापुल स्थित लच्छीपुरा कालोनी में भी सामूहिक रोजा इफ्तार का आयोजन करामत कुरैशी, मेराज, शीबू, मोनू, आमिर आदि क्षेत्रीय युवाओं ने किया। ----------------- -- नन्हें रोजेदार -- जुनैद ने मुकम्मल किया 19वां रोजा जासं, वाराणसी : पुलिस लाइन स्थित पक्की बाजार निवासी मुहम्मद सलीम के 13 वर्षीय पुत्र मुहम्मद जुनैद ने शनिवार को अपना 19वां रोजा मुकम्मल किया। भीषण गर्मी के बावजूद जुनैद न सिर्फ लगातार रोजा रख रहा है, बल्कि पाबंदी के साथ पंच वक्ता नमाज भी अदा कर रहा है। भूख-प्यास से बेखबर तिलावते कलामपाक में मशगूल रहने वाले जुनैद छोटे-छोटे कामों में माता-पिता की मदद नहीं भूलते।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस