मीरजापुर, जेएनएन। विंध्य क्षेत्र को सावन की साैगात देने मीरजापुर आ रहे गृहमंत्री अमित शाह व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के स्वागत को विंध्यधाम तैयार है। विंध्य कारिडोर के शिलान्यास कार्यक्रम की तैयारी भी पूर्ण हो चुकी है। हर तरफ बैरिकेडिंग की गई है। हेलीपैड स्थल से लेकर प्रस्तावित मार्ग को पूरी तरह सुरक्षित कर दिया गया है।

केंद्रीय गृहमंत्री व सहकारिता मंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मीरजापुर जिले में रविवार को लगभग दो घंटे व्यतीत करेंगे। इस दौरान विंध्य क्षेत्र के लोगों को विंध्य कारिडोर व रोप-वे की सौगात देंगे। इसके लिए विंध्याचल के साथ ही जीआइसी मैदान पर तैयारी की गई है। हर तरफ सुरक्षा व्यवस्था भी चाक-चौबंद कर दी गई है। केंद्रीय गृहमंत्री सबसे पहले छानबे के देवरी में बने हेलीपैड पर हेलीकाप्टर से दोपहर दो बजकर 50 मिनट पर आएंगे। दो बजकर 50 मिनट से 3.05 बजे तक आरक्षित रखा गया है। सड़क मार्ग से दोपहर 3.05 बजे विंध्याचल धाम के लिए रवाना होंगे और दोपहर तीन बजकर 15 मिनट पर विंध्याचल मंदिर पहुंचेंगे। इसके बाद तीन बजकर 35 मिनट तक मां विंध्यवासिनी का विधि-विधान से दर्शन-पूजन करेंगे। यहां पर गृहमंत्री व मुख्यमंत्री विंध्य कारिडोर के लिए भूमि पूजन भी करेंगे। दोपहर तीन बजकर 35 मिनट के बाद सड़क मार्ग से महुवरिया स्थित राजकीय इंटर कालेज परिसर के लिए प्रस्थान करेंगे। इसके बाद 3.50 बजे जीआइसी परिसर में पहुंचेंगे। यहां 3.51 बजे से 4.26 बजे तक मां विंध्यवासिनी कारिडोर परियोजना का शिलान्यास के साथ ही रोप-वे सहित अन्य विकास परियोजनाओं का लोकार्पण भी करेंगे। शाम चार बजकर 26 मिनट पर राजकीय इंटर कालेज से पुलिस लाइन परिसर में बने हेलीपैड के लिए रवाना होंगे। शाम चार बजकर 31 मिनट पर पुलिस लाइन हेलीपैड पहुंचने के बाद 4.35 बजे हेलीकॉप्टर से रवाना हो जाएंगे।

गृहमंत्री व मुख्यमंत्री आज केवल विंध्य कारिडोर के 128 करोड़ के विंध्य कारिडोर का शिलान्यास और 16 करोड़ के रोप-वे का लोकार्पण करेंगे। वे दोपहर बाद 2:50 बजे देवरी हेलीपैड पहुंचेंगे और 4:35 तक जनपद में रहेंगे। उनकी सुरक्षा व्यवस्था पहले ही मजबूत कर दी गई है। स्थानीय सुरक्षा कर्मियों के साथ ही केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारी भी जिले में डेरा जमा लिए हैं। पर्यटन व धर्मार्थ कार्य मंत्री नीलकंठ तिवारी ने खुद अधिकारियों संग का निरीक्षण कर तैयारियां परखी। विंध्यधाम निरीक्षण के दौरान पुरानी वीआइपी के पास पुराना टेंट लगा देख पर्यटन मंत्री ने नाराजगी जताई। गृहमंत्री व मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में कोई कमी न रहने पाए। इसके लिए मंडलायुक्त योगेश्वरराम मिश्रा, डीआइजी जे. रविंद्र गौड़, जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार, पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सिंह भी दिन-रात जुटे हैं। किसी प्रकार की लापरवाही न बरतने की हिदायत भी दी गई है।

दोपहर 12 से शाम पांच बजे तक मंदिर पर प्रवेश बंद : गृहमंत्री अमित शाह व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा दृष्टिगत दोपहर बारह से शाम चार बजे तक आम दर्शनाथियों के लिए विंध्यवासिनी मंदिर बंद रहेगा। जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार, जनप्रतिनिधियों व श्रीविंध्य पंडा समाज के बीच विचार-विमर्श के बाद यह निर्णय लिया गया।

रंग-बिरंगी रोशनी से जगमगा उठा विंध्यवासिनी मंदिर : केंद्रीय गृहमंत्री व मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर विंध्यवासिनी मंदिर को अलौकिक ढंग से सजाया गया है। रंग-बिरंगी रोशनी से जगमगाते विंध्यवासिनी मंदिर का आकर्षण देखते ही बन रहा था। मंदिर का गुंबद भी रंग-बिरंगी लाइटों से नहाया नजर आया। पक्का घाट को भी भव्य रूप से सजाया गया है। जर्मन हैंगर पंडाल भी बनकर तैयार हो गया है। एसी, कूलर, पंखा से लेकर बैठने तक की व्यवस्था की गई है।

Edited By: Abhishek Sharma